बारिश, बाढ़ से देश भर में अब तक ११० की मौत

यूपी सर्वाधिक प्रभावित, बिहार में हालत बहुत खराब

0
783

बिहार सहित देश के कई हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ से जबरदस्त नुक्सान हुआ है। अब तक की रिपोर्ट्स के मुताबिक ११० से ज्यादा लोगों की मौत बाढ़ से हुई है। बिहार में १४ जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।

पिछले चार दिन से भारी बारिश ने काफी तबाही मचाई है। बाढ़ से ११० लोगों की मौत हुई है जिसमें सबसे ज्यादा मौतें यूपी में हुई हैं। बिहार में लगातार बारिश ने सामान्य जनजीवन को बुरी तरह से प्रभावित किया है और राजधानी पटना के लगभग पूरे क्षेत्र में पानी भर गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसे ”प्रकृति की मार” और ”इसके आगे बेबसी की स्थिति” बताते हुए कहा सरकार लोगों को संकट से निजात दिलाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। कुमार ने लोगों से धैर्य बनाये रखने की अपील की है।

पूरा पटना शहर एक बड़ी झील में तब्दील हो गया है। राजेंद्र्र नगर और पाटलिपुत्र कॉलोनी जैसे निचले इलाकों में बाढ़ आ गई है। शहर के कई अस्पताल, दुकान, बाजार जलमग्न हो चुके हैं। यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है। जगह-जगह जलभराव है। शहर के कुछ इलाकों में लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ की टीमें लगी हुई हैं। पटना में शुक्रवार शाम से २०० मिमी से अधिक बारिश हुई।

उधर मौसम विभाग का कहना है कि मानसून की वापसी में और अधिक देरी हो सकती है। यूपी में भी बाढ़ से बुरी हालत है और कई जगह पानी भर गया है। जिससे जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। यूपी में बाढ़ से कम से कम ८० लोगों की मौत हो चुकी है।

इस बीच भारी बारिश के बाद पानी के जमा होने से रेल यातायात, स्वास्थ्य सेवाएं और  शिक्षण संस्थान प्रभावित हुए हैं। बिजली की आपूर्ति भी बुरी तरह बाधित हुई है। यूपी में गुरुवार से अब तक कम से कम ८० लोगों की मौत हो चुकी है।

गुजरात में सौराष्ट्र क्षेत्र के कई हिस्सों में भारी बारिश के बाद रविवार को राजकोट जिले में भीषण बाढ़ के कारण कार के बह जाने से तीन महिलाएं डूब गईं। इसके अलावा उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी लोगों की जान गयी है। राजस्थान में डूंगरपुर में भारी बारिश और पूर्वी हिस्सों के कुछ स्थानों और पश्चिमी हिस्सों के एक दो स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई है। विभाग ने आगामी २४  घंटे के दौरान १४ जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक ने बताया कि चार महीने का मानसून वैसे तो सोमवार को आधिकारिक तौर पर खत्म हो गया, लेकिन यह एक सप्ताह और रुकेगा। राजस्थान, बिहार और यूपी के कुछ हिस्सों में मानसून अब भी सक्रिय है।