बाबा केदार कु आशीर्वाद सभी पर | Tehelka Hindi

राज्यवार A- A+

बाबा केदार कु आशीर्वाद सभी पर

'केदारनाथ आने वाले नरेंद्र मोदी तीसरे प्रधानमंत्री है। उनके पहले के प्रधानमंत्रियों ने बाबा का आशीर्वाद लिया, राजनीति की कोई बात नहीं। मोदी जी ने एक नई परंपरा प्रारंभ की। देवस्थानों पर हो रहे निर्माण कार्य भी अपना बता देते हैं।Ó कहते हैं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत।

kedarnath

‘केदार घाटी 2013 की अचानक आई बाढ़ में खासी तबाह हो गई थी। दोनों का नुकसान हुआ। लोग मरे और संपत्ति भी नष्ट हुई। यह बड़ी विपदा थी। मैं यहां आया था। गुजरात में तब मैं मुख्यमंत्री थाÓ अपने भाषण में कहा प्रधानमंत्री ने। मैंने उत्तराखंड में तब मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा (अब भाजपा में) को प्रस्ताव दिया कि इस पूरे क्षेत्र में हम पुननिर्माण के लिए तैयार हैं। पहले तो उत्तराखंड सरकार ने हामी भरी लेकिन बाद में केंद्र में राज कर रही यूपीए सरकार के कहने पर प्रस्ताव खारिज कर दिया।

‘लेकिन अब हम इस हैसियत में है कि केदार घाटी में पुननिर्माण का काम करें। अब समय चक्र पूरा हो गया है। बाबा ने खुद बेटे को बुला कर पुननिर्माण कार्य पूरा करने को कहा है। अब केदार नाथ को आधुनिक मूल संसाधनों से लैस किया जाएगा लेकिन पारंपरिक भावना बनाए रखी जाएगी। यह एक आदर्श तीर्थस्थान बनेगा। पुजरियों और तीर्थयात्रियों को महत्व मिलेगा।Ó

इसी साल दूसरी बार केदारनाथ पहुंचे थे नरेंद्र मोदी। वे पिछली बार पहली मई को आए थे। तभी शीतकाल के बाद केदारनाथ धाम के फाटक खुले। यह बड़ी बात है कि साढ़े चार लाख तीर्थयात्री इस दौरान आए। मोदी की वापसी के बाद ही गंगोत्री, यमुनोत्री और केदारनाथ धाम के कपाट शीतकालीन अवकाश के लिए बंद हो गए। बद्रीनाथ के कपाट 19 नवंबर से बंद होंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा ’हम आज़ादी के 75 साल 2022 में मनाएंगे। मुझे अपनी शपथ पूरी करनी है कि विकसित भारत का सपना तब तक पूरा हो।Ó केदारनाथ के पास ही गरुडचट्टी में उन्होंने अपनी धार्मिक खोज के शुरू के साल बिताए थे। उसी दौरान आज़ादी के 75 साल होने तक विकसित भारत बना पाने का तब प्रण किया था। ’मेरा इरादा तो बाबा की सेवा करना था लेकिन उन्हांने शायद यही चाहा कि मै 125 करोड़ बाबाओं की सेवा करुं।Ó

Pages: 1 2 Single Page

Comments are closed