बंगाल की राजनीतिक हिंसा में ४ की मौत

भाजपा का दावा ३ उसके कार्यकर्ता, टीएमसी ने एक अपना बताया

0
368

पश्चिम बंगाल में लोक सभा चुनाव के समय से जारी राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। नवीनतम घटना में बंगाल के उत्तर २४ परगना जिले में शनिवार रात कथित तौर पर भाजपा के झंडे निकालने पर गोलीबारी हो गई। भाजपा ने अपने तीन और तृणमूल कांग्रेस ने एक कार्यकर्ता की जान जाने की बात कही है।
रिपोर्ट्स के मुताबिक पश्चिम बंगाल के संदेशखली विधानसभा क्षेत्र  में तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गयी। भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप पार्टी नेता मुकुल रॉय ने टीएमसी पर लगाया है। रॉय ने कहा – ”टीएमसी नेताओं द्वारा बशीरहाट के संदेशखली में हमारे कार्यकर्ताओं पर हमला किया और हमारे कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। टीएमसी के नेता इस आतंक में लिप्त हैं।” रॉय ने कहा है कि पार्टी ने गृह मंत्री अमित शाह, कैलाश विजयवर्गीय और राज्य के नेताओं को संदेशखली हिंसा के बारे में सूचना भेजी है।
उधर पश्चिम बंगाल भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया – ”अभी-अभी मिली दुःखद ख़बर के अनुसार पश्चिम बंगाल के बशीरहाट लोकसभा के क्षेत्र संदेशखली में भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की तृणमूल के गुंडों ने हत्या कर दी।”
उधर ख़बरों के मुताबिक संदेशखाली इलाके में झंडा खोलने को लेकर तृणमूल और भाजपा समर्थकों में संघर्ष हुआ जिसमें तीन भाजपा कार्यकर्ता मारे गए। उत्तर २४  परगना जिला तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष और मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने दावा किया कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता कयूम मोल्ला की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। पश्चिम बंगाल की पुलिस की ओर से फिलहाल कोई मरने वालों की संख्या के बारे में अभी नहीं बताया गया है। इस घटना में कई लोग गंभीर रूप से घायल भी हुई हैं। घायलों को इलाज के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।