पैरामेडिक कर्मचारियों का विरोध -प्रदर्शन

    कोरोना काल में अपनी जान पर खेलकर रात दिन लोगों के स्वास्थ्य के लिये काम करने वाले पैरामेडिकल के कर्मचारियों ने दिल्ली सरकार के सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल जीबी पंत अस्पताल के बाहर प्रदर्शन कर अस्पताल के डायरेक्टर डाँ अनिल कुमार के खिलाफ नारे बाजी।

    प्रदर्शन का नेतृत्व पैरामेडिकल कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष भरतवीर ने कहा कि अजीब विडम्बना है कि अस्पताल में ठेकादारी प्रथा को बढ़ावा दे रही है। सरकार दिन व दिन निजीकरण करती जा रही है। जो सालों -साल से काम कर रहे है। उनमें से कई कर्मचारियों का वेतन भुगतान तक नहीं हुआ है। महासचिव हरीमोहन शर्मा ने कहा कि सरकार नई नुक्तियां निकाल नहीं रही है। स्टाफ की कमी है।

    स्टाफ की कमी के कारण मरीजों को स्वास्थ्य लाभ तक नहीं मिल पाता है। प्रमोशन लटके हुये है। रिटायर्ड कर्मचारियों को फिर से उसी नौकरी पर ऱख कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया जा रहा है। पदाधिकारी विजय ने बताया कि अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाये लड़खड़ा रही है। प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने चेतावनी देते हुये शासन –प्रशासन से कहां कि अगर मांगों को नहीं माना गया तो आंदोलन अब तेज होगा।