पुलवामा के शहीदों को याद किया

0
1058

देश आज एक साल पहले कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के ४० से ज्यादा जवानों की शहादत को याद कर रहा है। श्रीनगर जाते हुए एक आतंकी हमले में इन जवानों की शहादत हुई थी। इस घटना को सुरक्षा की बहुत बड़ी चूक माना गया था।

पीएम मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी सहित देश के नेताओं ने ट्वीट करके इन शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की है

पीएम नरेंद्र मोदी ने पुलवामा हमले में जान गंवाने वाले बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। कहा कि वे सबसे अलग थे जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।

शहीद जवानों को सीआरपीएफ ने भी अपने अंदाज में याद किया है। सीआरपीएफ ने कहा – ”हम भूले नहीं, हमने छोड़ा नहीं।”

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा – ”मैं पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं। भारत हमेशा हमारे बहादुरों और उनके परिवारों का आभारी रहेगा जिन्होंने हमारी मातृभूमि की संप्रभुता और अखंडता के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया।”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शहीद जवानों को याद करते हुए कहा – ”भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा। संपूर्ण राष्ट्र आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है और हम इस खतरे के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

याद रहे १४ फरवरी, २०१९ को सीआरपीएफ की ७८ बसें करीब २६०० जवानों को लेकर नेशनल हाईवे ४४ से गुजर रही थीं। आश्चर्य यह कि नियम के विपरीत उस दिन  सड़क पर दूसरे वाहनों की आवाजाही को रोका नहीं गया था। सेना का कन्वॉय होने के बावजूद एक कार ने सड़क की विपरीत दिशा से सीआरपीएफ के काफिले के साथ चल रही बस को टक्‍कर मार दी। इससे हुए  धमाके में बस के परखच्‍चे उड़ गए और ४० से ज्यादा देश के सपूत शहीद हो गए। आतंकी वहां से भागने में सफल हो गए।