पुरी से टकराया फैनी, भारी बारिश

कल पश्चिम बंगाल पहुँच सकता है, ममता ने रद्द की चुनाव रैलियां

0
852
सुबह नौ बजे पुरी के तट से टकराने के बाफ फैनी ने अब तक श्रीकाकुलम में २० मकानों को तबाह करने के अलावा काफी नुक्सान किया है हालाँकि किसी जान-माल के नुक्सान की खबर नहीं है।
अभी तक की ख़बरों के मुताबिक चक्रवाती तूफान फैनी ओडिशा में पुरी के तट से टकरा गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक निचली बस्तियों में पानी भर गया है। वहां करीब १७५ किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। भुवनेश्वर, बेरहामपुर, बालूगांव में फैनी का जबर्दस्त असर, कई पेड़ गिरने की खबर है। राज्य के ज्यादातर तटवर्ती इलाकों में जोरदार बारिश हुई है। चक्रवात के असर से आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई है।
इसका असर अभी तक दिख रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, यह बंगाल से होता हुआ बांग्लादेश की तरफ बढ़ेगा ऐसे में पश्चिम बंगाल के तटवर्ती इलाकों में भी चेतावनी जारी कर दी गई है। चक्रवात पुरी के बाद पश्चिम बंगाल का रुख करेगा। इसका असर आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु के  उत्तर-पूर्व इलाकों में भी दिखेगा। चक्रवात से ओडिशा के १४ जिले प्रभावित होंगे। इसमें पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपारा, बालासोर, भदरक, गंजम, खुर्दा, जाजपुर, नयागढ़, कटक, गाजापटी, मयूरभंज, ढेंकानाल और कियोंझार शामिल हैं। इन जिलों के करीब १० हजार गांव चक्रवात से प्रभावित होंगे।
ओडिशा में एहतियात के तौर पर १५ जिलों से ११ लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया गया है। यह २० साल में ओडिशा से टकराने वाला सबसे खतरनाक तूफान है। एनडीआरएफ ने एडवायजरी में कहा कि तूफान के बाद क्षतिग्रस्त भवनों में न जाएं। बिजली के खुले तारों को न छुएं। मछुआरे अतिरिक्त बैटरी के साथ रेडियो सेट रखें। एनडीआरएफ ने प्रभावित क्षेत्रों में राहत-बचाव का काम शुरू किया।
लोगों के लिए इमरजेंसी नंबर जारी किये गए हैं जो ओडिशा के लिए  06742534177, गृह मंत्रालय का 1938 और सिक्युरिटी का 182 है। ी नंबर पर फोन करके जानकारी ली जा सकती है जा सकती है।