पाकिस्तान पर सैन्य कार्रवाई को तैयार थे मनमोहन : कैमरन

अपनी पुस्तक में बताया उन्हें 'संत'

0
1331

भाजपा भले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को लेकर हलकी टिप्पणियां करती रही हो, ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने दावा किया है कि मुंबई में २००८ के आतंकवादी हमले के बाद पीएम मनमोहन सिंह ने तय कर लिया था कि अब यदि ऐसी हिमाकत पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों की तरफ से दुबारा हुई तो भारत पाकिस्तान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई कर देगा।

डेविड कैमरन ने मनमोहन सिंह को एक संत पुरुष बताते हुए यह भी लिखा है कि भारत के खतरों के प्रति उनका (मनमोहन सिंह) कड़ा रुख भी रखते थे। कैमरन ने अपनी पुस्तक ”फॉर द रेकॉर्ड” में अपने ५२ साल के निजी और व्यावसायिक जीवन के घटनाक्रम को लिपिबद्ध किया है। इसका विमोचन एक दिन पहले ही किया गया।

कैमरन ने कहा – ”सिंह ने मुझे बताया था कि अगर मुंबई की तरह का दूसरा आतंकवादी हमला हुआ तो पाकिस्तान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई करनी होगी।” फॉर द रेकॉर्ड में घटनाक्रमों को लिपिबद्ध  करते हुए कैमरन ने २०१० से २०१६ के बीच का विशेष तौर पर जिक्र किया है जब वह ब्रिटेन के प्रधानमंत्री थे। उनके मुताबिक उनके मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी दोनों के साथ अच्छे रिश्ते रहे।

मनमोहन को लेकर किताब में कैमरन ने लिखा है – ”प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ मेरे रिश्ते अच्छे रहे। वह संत पुरुष हैं लेकिन भारत के खतरों के प्रति वह कड़ा रुख भी रखते थे। भारत की एक यात्रा के दौरान उन्होंने मुझसे कहा कि मुंबई में २००८ के आतंकवादी हमले की तरह कोई दूसरा आतंकवादी हमला होता है तो भारत को पाकिस्तान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई करनी होगी।”

कैमरन ने कहा – ”भारत के संदर्भ में मैंने कहा था कि हमें आधुनिक सहभागिता की जरूरत है न कि औपनिवेशिक अपराध की भावना के साथ। यह सहभागिता दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के साथ हो। ब्रिटेन के कई सफल व्यवसायी और सांस्कृतिक हस्तियां भारतीय मूल के रहे हैं और इस प्रयास में वे काफी सहायक साबित हो सकते हैं।”

उन्होंने अमृतसर में ऐतिहासिक स्वर्ण मंदिर के दौरे का भी ब्यौरा दिया है जिस दौरान २०१३ में उन्होंने ब्रिटेन के सबसे बड़े व्यवसाय मिशन का नेतृत्व किया और ब्रिटेन के पहले प्रधानमंत्री थे जिन्होंने जालियांवाला बाग नरसंहार पर दुख जताया था।