न्याय के लिए भटकते 1984 के दंगा पीडि़त | Tehelka Hindi

गुहार A- A+

न्याय के लिए भटकते 1984 के दंगा पीडि़त

यह दास्तां है नवंबर 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों की। केंद्र में कई सरकारें बनीं लेकिन दंगों के शिकार हुए लोगों को अब तक न्याय नहीं मिला। इसकी वजह जानने की कोशिश कर रहे हैं सविंदर बाजवा

2017-11-30 , Issue 22 Volume 9

SIKH RIOTS2

Pages: 1 2 Single Page

(Published in Tehelkahindi Magazine, Volume 9 Issue 22, Dated 30 November 2017)

Comments are closed