नोटबंदी की आलोचना : मोदी का सोनिया-राहुल पर वार

बाराणसी में २४१३ करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास

0
418
पिछले लम्बे समय से हो रही नोटबंदी की आलोचना का आखिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कांग्रेस नेतृत्व की आलोचना कर जवाब दिया। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में चुनाव सभा में मोदी ने नोटबंदी के नफे-नुक्सान को लेकर तो कुछ नहीं कहा अपितु बिना नाम लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी (मान-बेटे) को निशाने पर लिया। कहा कि जो लोग ”जमानत” पर हैं वे मोदी से नोटबंदी का हिसाब मांग रहे हैं”। इसके बाद शाम को मोदी ने अपने संसदीय हलके उत्तर प्रदेश के बाराणसी में २०१९ लोक सभा  चुनाव से ऐन पहले २४१३ करोड़ रूपये की भिविन्न परियोजनाओं का या तो उदघाटन किया या उनका नींव पत्थर रखा।
पहले बात छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में उनकी चुनाव सभा की। देश में नोटबंदी से हुए नुक्सान की चर्चा के बीच मोदी ने कहा कि ”नोटबंदी के ही कारण फर्जी कंपनियां पकड़ी गईं और उसके कारण आपका (बिना नाम लिए इशारा राहुल-सोनिया की तरफ) कारोबार पकड़ा गया और आपको जमानत पर निकलना पड़ा”। मोदी ने साथ ही कांग्रेस पर परिवार की राजनीति का आरोप भी दोहराया।  कहा – ”एक परिवार से शुरू होकर यह पार्टी (कांग्रेस) उसी परिवार पर आकर पूरी हो जाती है”। मोदी ने कहा कि हमारी राजनीति गरीब की झोपड़ी से शुरू होती है, गरीब की जिंदगी को बदलकर रहे बिना चैन से सोना नहीं इस इरादे से आगे चलती है।
बिलासपुर के साइंस कॉलेज मैदान पर इस चुनावी जनसभा में मोदी ने कहा कि छत्‍तीसगढ़ ने बार-बार  भाजपा को आशीर्वाद दिया है। ”छत्‍तीसगढ़ में कार्यकर्ताओं को उत्‍साह कभी कम नहीं हुआ है। पिस्‍तौल दिखाने वालों को लोकतंत्र जवाब देकर रहेगा”।
इसके बाद शाम को मोदी उत्तर प्रदेश में अपने हलके बाराणसी पहुंचे। मोदी ने इस दौरे में अपने संसदीय क्षेत्र में २४१३ करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया। एक जनसभा को भी संबोधित किया। कहा, “इस बार मेरा सौभाग्य रहा कि मुझे दीपावली के दिन बाबा केदारनाथ के दर्शन करने का अवसर मिला। अब बाबा विश्वनाथ की नगरी में, आपसे आशीर्वाद लेने का मौका मिला है। उत्तराखंड में, मैं माता भगीरथी की पूजा करके धन्य हुआ, तो आज यहां, अब से कुछ देर पहले मां गंगा के दर्शन भी किए”।
पीएम ने कहा कि काशी के लिए, पूर्वांचल के लिए, पूर्वी भारत के लिए और पूरे भारतवर्ष के लिए, आज का ये दिन बहुत ऐतिहासिक है। ”जब हमने हल्दिया घाट पर जल मार्ग से व्यापार करने का प्रस्ताव रखा था तब मेरा मजाक बनाया गया था, लेकिन आज जब कंटेनर कोलकाता से यहां आया है तो सबका मुंह बंद हो गया है”। कहा कि ८०० करोड़ रुपये की बाबतपुर एयरपोर्ट को शहर से जोड़ने वाली सड़क ना सिर्फ चौड़ी हो गई है, बल्कि देश-विदेश के पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करने लगी है।