देश में तानाशाही ; लोकतंत्र की हत्या, राहुल गांधी ने कहा

कांग्रेस आज देश भर में महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है। देशव्यापी हल्लाबोल के तहत कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि आज देश में तानाशाही है, जिसे हम देख रहे हैं। यह लोकतंत्र की हत्या है। संसद में हमें डिबेट की इजाजत नहीं दी जाती और गिरफ्तार किया जाता है। इस बीच दिल्ली में पुलिस ने धारा 144 लगा दी है और कांग्रेस को ‘चेतावनी’ दी है कि जंतर-मंतर के अलावा कहीं भी प्रदर्शन करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

राहुल गांधी ने एक प्रेस कांफ्रेंस में आज कहा – ‘देश के मीडिया समेत हर इंस्टीट्यूशन पर सरकार का कब्जा है। हर संस्था में आरएसएस का एक व्यक्ति बैठा है। हमारी सरकारें इंस्टीट्यूशन को कंट्रोल नहीं करती थीं। हम संस्थाओं को स्वतंत्र रखते थे। कोई दूसरी राजनीतिक पार्टी के बारे में बात करे तो उसके पीछे ईडी समेत केंद्रीय एजेंसियां लगा दी जाती है। हम इसके खिलाफ लड़ रहे हैं।’

कांग्रेस नेता ने कहा – ‘बेरोजगारी और महंगाई बढ़ रही है, लेकिन हिन्दुस्तान की सरकार कहती है कि ऐसा नहीं है। कोविड पर मौतों को लेकर भी सरकार मुकर गई है। जितना मैं सच्चाई बोलूंगा उतना मेरे ऊपर आक्रमण होगा। मैं अपना काम करूंगा, लोकतंत्र के लिए काम करूंगा। महंगाई और बेरोजगारी का मुद्दा उठाऊंगा।’

गांधी ने कहा कि जो डरता है वही धमकाता है। वो किससे डरते हैं, जो आज हिन्दुस्तान की हालत है, उससे डरते हैं। जो वादे उन्होंने किए थे, वो पूरे नहीं किए उससे डरते हैं। वे झूठ बोलते हैं। बेरोजगारी नहीं है, महंगाई नहीं है, चीन को लेकर भी झूठ बोला। ये जितना मेरे ऊपर आक्रमण करते हैं, मुझे अच्छा लगता है। मैं उससे सीखता हूं। लड़ाई क्यों हो रही है, वह मुझे समझ आती है।’