तालिबान के बढ़ते वर्चस्व को देख अमेरिका ने लड़ाकू विमानों से बम बरसाए

अफगानिस्तान से 20 साल के बाद अमेरिका और नाटो देशों की फौज इसी माह पूरी तरह से वापस आ जाएंगी। इसी बीच, अफगानिस्तान में तालिबान का दबदबा तेजी से बढ़ता जा रहा है। रोजाना नए-नए इलाकों में उसके लड़ाके कब्जे करते जा रहे हैं। इससे अफगान सुरक्षा बलों में खौफ बढ़ गया है साथ ही लोगों के बीच अफरातफरी का माहौल है। इस बीच, तालिबान कुंदुज प्रांत की राजधानी में भी कब्जा कर लिया है।

इसी बीच, अब अमेरिका में अफगानिस्तान में अफगान सुरक्षा बल के समर्थन में अपने लड़ाकू विमान एफ-16 एस को भेजकर तालिबान के इलाकों में बम बरसाकर उसे तहस-नहस करने की कोशिश की है। कई इलाकों और इमारतों को जमींदोज कर दिगया गया है। इस दौरान करीब 1000 तालिबानी लड़ाकों के मारे जाने की खबर है। बम बरसाए जाने से एक स्कूल की इमारत को भी नुकसान पहुंचा है।

अमेरिका के बी-52 बमवर्षक विमानों ने अफगानिस्तान के जावजान प्रांत की राजधानी शेबेरगन में तालिबान के ठिकानों पर हवाई हमले किए। इसमें 200 से अधिक लड़ाके मारे गए। वहीं, पिछले 24 घंटे में देश में 572 लड़ाकों के मारे जाने की खबर है। इसके अलावा सैकड़ों लोग घायल हुए और कई इमारतों को भी नुकसान पहुंचा है। इससे ठीक एक दिन पहले ही तालिबान ने दो प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा कर अपनी धाक को और मजबूत कर लिया था।