झारखंड में ६ दुर्दाँद नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया

0
778

पांच पुलिस कर्मियों की हत्या के दो दिन बाद झारझंड से कुछ नक्सलियों के आत्मसमर्पण करने की खबर है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पांच लाख रुपये की इनामी महिला नक्सली पीसी दी उर्फ प्रिसिला उर्फ सावड़ी देवी और किरण उर्फ पक्कू समेत छह कट्टर नक्सलियों ने सोमवार को दुमका में आत्मसमर्पण कर दिया। ये सभी नक्सली संगठन भाकपा (माओवादी) से जुड़े थे।
आत्मसर्पण करने वाले नक्सलियों में सुखलाल देहरी उर्फ कंदरा देहरी, पीसी दी उर्फ प्रिसिला देवी उर्फ सावड़ी सिंह, प्रेमशीला उर्फ होपन टी, किरण टुडू उर्फ पक्कू टुडू उर्फ उषा टुडू उर्फ फुलीना टुडू, भगत सिंह उर्फ भगत सिंह हेम्ब्रम उर्फ बाबूराम हेम्ब्रम और सिद्धो मरांडी उर्फ कन्हु हैं। जानकारी के मुताबिक पक्कू, पूर्व नक्सली ताला दा की पत्नी है। पुलिस में पक्कू के खिलाफ १६ मुकदमे दर्ज हैं। पीसी दी के पति सुखलाल देहरी ने भी पुलिस के सामने हथियार डाल दिये। आत्मसमर्पण  करने वाले नक्सलियों में पीसी दी और किरण दी सबजोनल कमांडर थीं, जबकि सिद्धो मरांडी का दर्जा एरिया कमांडर का था।
पीसी दी ने एके-४७, किरण दी ने कारबाईन, सिद्धो मरांडी ने इंसास राइफल, सुखलाल देहरी ने पिस्टल और भगत सिंह किस्कू ने राइफल के साथ आत्मसमर्पण किया।  पीसी दी और किरण दी पर ५-५ लाख रुपये का इनाम घोषित था, जबकि सिद्धो मरांडी, प्रेमशीला देवी पर एक-एक लाख रुपये का इनाम था।
रिपोर्ट्स के मुताबिक झारखंड सरकार के प्रत्यार्पण एवं पुनर्वास योजना से प्रभावित होकर इन नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। सभी ने अपने-अपने परिजनों के माध्यम से आवेदन दिया था कि वे आत्मसर्पण करना चाहते हैं।