झारखंड में पाँव पसार रहे नक्सली

सरायकेला में ५ पुलिकर्मियों की हत्या, हथियार भी ले गए

0
597

झारखंड के सरायकेला जिले में शुक्रवार शाम नक्सलियों ने पुलिस के गश्ती दल पर हमला कर दो एएसआई सहित पांच जवानों को शहीद कर दिया। इस  करीं ढाई घंटे तक शहीदों के शव सड़क पर ही पड़े रहे। नक्सली पुलिस कर्मियों के हथियार भी साथ ले गए। घटनाओं को देखकर संकेत मिलता है कि नक्सली झारखंड में पाँव पसार रहे हैं।
यह घटना चांडिल के पास तिरुलडीह थाना क्षेत्र के कुकडु साप्ताहिक हाट की है जहाँ
नक्सलियों ने पहले जवानों पर भुजाली से हमला किया फिर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। नक्सली पुलिस के हथियार भी लेकर फरार हो गए। पुलिस के चालक सुखलाल कुदादा ने जंगल की तरफ भागकर जान बचाई और बाद में घटना की।
रिपोर्ट्स के मुताबिक शहीद हुए जवानों में एएसआई मनोधन हासदां, एएसआई गोवर्धन पासवान, कांस्टेबल युधिष्ठिर मालुवा, कांस्टेबल धनेश्वर महतो और कांस्टेबल डिबरू पूर्ति शामिल हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार भागते हुए नक्सली  ”माओवाद जिंदाबाद” के नारे लगा रहे थे।
बताया गया है कि घटना के ढाई घंटे बाद तक जवानों के शव सड़क पर पड़े रहे। पुलिस अफसर घटनास्थल पर जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाए। रात करीब आठ बजे जाकर डीआईजी के नेतृत्व में सुरक्षा बल घटनास्थल पर पहुंचे तब जाकर शवों को वहां से  उठाया गया।
जानकारी के मुताबिक घात लगाकर बैठे करीब २० नक्सली अलग-अलग धड़ों में  पुलिस वालों का पीछा करने लगे। एक जवान का दो-दो नक्सली पीछा कर रहे थे। उनके पास छोटे हथियार थे। किसी के पास भुजाली तो किसी के पास देसी कट्टा और पिस्टल थी। इसी वजह से उनके करीब पहुंचने तक पुलिस को उन पर शक नहीं हुआ।
ग्रामीणों के अनुसार घटना के बाद नक्सली छह बाइकों पर सवार होकर भाग गए। वे एएसआई की दो रिवाॅल्वर और कारतूस और जवानों के तीन इंसास राइफल और कारतूस भी अपने साथ ले गए। पुलिस के आला अधिकारी चांडिल, ईचागढ़ और तिरुलडीह थाने पहुंचे। नक्सलियों के दोबारा हमले की आशंका में पुलिस घटनास्थल की ओर बढ़ने में हिचकती रही। सरायकेला और चाईबासा से पुलिस फोर्स को बुलाया गया।
डीआईजी कुलदीप द्विवेदी के नेतृत्व में टीम रात करीब सवा आठ बजे घटनास्थल पर पहुंची। जवानों के शव कब्जे में लेने के बाद रात करीब १० बजे सरायकेला पोस्टमॉर्टम हाउस भेजा गया। पुलिस के मुताबिक घटना को नक्सली कमांडर महाराज प्रमाणिक के दस्ते ने अंजाम दिया है। इस दस्ते ने पिछले डेढ़ महीने में सरायकेला-खरसावां में ये चौथा हमला किया है।