जैश मुख्यालय पर पंजाब सरकार का नियंत्रण

कहा एनएससी की बैठक में किया गया था इसका फैसला

0
473

पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने बहावलपुर स्थित जैश-ए-मोहम्मद के मुख्यालय को अपने नियंत्रण में ले लिया है। अभी यह साफ़ नहीं है कि ऐसा पुलवामा के बाद बन रहे अंतर्राष्ट्रीय दवाब के कारण किया गया है या फिर आँखों में धुल झोंकने के लिए मसूद अज़हर को सुरक्षा देने की कोशिश की गयी है। वैसे पुलवामा सरकार ने दावा किया है कि इसका फैसला गुरूवार को नैशनल सेक्युरिटी कौंसिल (एनएससी) की बैठक में ही कर लिया गया था।

तहलका की जानकारी के मुताबिक मुताबिक पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने शुक्रवार शाम जैश-ए-मोहम्मद के मुख्यालय (हेडक्वार्टर) को अपने कब्जे में लिया। जैश का यह मुख्यालय बहावलपुर में एनएच ५ पर सरकी चौक के पास स्थित है। उसके पास एक मस्जिद भी है जहाँ जैश का मुखिया मसूद अजहर रहता है।

बहावलपुर में ही पाकिस्तान सेना की ३१ कोर का हेड क्वार्टर भी है और माना जाता है कि पाकिस्तान के परमाणु अड्डे भी यहीं कहीं हैं। पंजाब सरकार ने कहा है कि उसकी  जैश के हेड क्वार्टर को अपने कंट्रोल में ले लिए ले लिया है। जैश के इस मुख्यालय में ही स्कूल और मदरसे भी हैं। वहां जो मस्जिद है उसका नाम जामिया सुहान अल्लाह है।

पंजाब सरकार ने वैसे दावा किया है कि भले जैश के हेडक्वार्टर पर आज नियंत्रण किया गया है इसका फैसला गुरूवार को ही नैशनल सेक्युरिटी कौंसिल (एनएससी)  कर लिया गया था जिसकी अध्यक्षता पीएम इमरान खान ने की थी। गौरतलब है कि इमरान खान ने पुलवामा हमले के बाद कहा था कि भारत हमले में पाकिस्तान के हाथ के सबूत दे तो उनकी सरकार निश्चित तौर पर कार्रवाई करेगी।