जेटली की हालत नाजुक

वेंटिलेटर से हटाकर एक्सट्रा कॉर्पोरियल मेंब्रेन ऑक्सीजिनेशन पर रखा

0
942

करीब एक हफ्ते से इलाज के लिए एम्स में भर्ती वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की हालत बहुत नाजुक बनी हुई है। उनकी खराब हालत को देखते हुए डाक्टरों ने उन्हें वेंटिलेटर से हटाकर एक्सट्रा कॉर्पोरियल मेंब्रेन ऑक्सीजिनेशन (ईसीएमओ) पर रखा गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक एक सप्ताह से ”एम्स” में भर्ती पूर्व वित्त मंत्री की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। वे आईसीयू में भर्ती हैं। उनकी हालत इस वक्त इतनी खराब है कि उन्हें वेंटिलेटर से हटाकर ईसीएमओ यानी एक्सट्राकॉर्पोरियल मेंब्रेन ऑक्सीजिनेशन पर रखा गया है।

पिछले कल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उनकी हाल जानने एम्स आये थे और गृहमंत्री अमित शाह भी आये थे। अमित शाह आज दुबारा जेटली को देखने एम्स पहुंचे। शाम करीब चार बजे जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक भी पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को देखने पहुंचे।

इनके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और बसपा सुप्रीमो मायावती भी पहुंचीं। मायावती अरुण जेटली के परिजनों से भी मिलीं। कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी भी जेटली से मिलने अस्पताल पहुंचे। साथ ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी दिल्ली आए और हवाई अड्डे से सीधे अरुण जेटली को देखने एम्स पहुंचे। जेटली का हाल जानने के लिए नेताओं के आने का क्रम जारी है।