जेएनयू हिंसा के लिए गृहमंत्री, शिक्षा मंत्री जिम्मेवार : जयराम रमेश

देश की आर्थिक हालत खराब, रोजगार न मिलने से युवा हो रहे हैं निराश

0
408

वरिष्ठ कांग्रेस नेता जय राम रमेश ने गुरूवार को कहा कि सीएए और एनआरसी की बजह से देश में हलचल है। उन्होंने हाल में जेएनयू में हुई हिंसा के आरोपियों को पकड़ने में देरी को लेकर आरोप लगाया कि इसके पीछे सरकार के बड़े लोगों का दबाव है। उन्होंने मांग की कि जेएनयू कुलपति का तत्काल इस्तीफा होना चाहिए।

रमेश ने गुरूवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि जेएनयू हिंसा की पूरी घटना के लिए देश के गृहमंत्री और शिक्षा मंत्री को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा – ”मैं सीधे तौर पर आरोप लगाता हूं दोनों पर। बहत्तर  घंटे हो गए, पुलिस ने अब तक पहचाने गए लोगों को क्यों गिरफ्तार नहीं किया है।” उन्होंने कहा कि जेएनयू वीसी तुरंत अपने पद से इस्तीफा दें।

कांग्रेस नेता ने कहा कि देश में सीएए और एनआरसी को लेकर बहुत हलचल है और बहुत से लोग, जिनमें बड़ी संख्या में छात्र शामिल हैं, इसके विरोध में सामने आये हैं। यह छात्र सभी वर्गों से हैं। उन्होंने हाल में जेएनयू में हिंसा पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसके पीछे कुछ बड़े लोग हैं और वहीं हिंसा में शामिल लोगों को बचाने में लगे हैं। उन्होंने जेएनयू कुलपति के तत्काल इस्तीफे की मांग भी की।

इस मौके पर जयराम रमेश ने कहा कि देश की आर्थिक हालत बहुत खराब हालत में है। कहा कि किसान और खेत मजदूर संकट में हैं। निवेश न होने से देश में रोजगार नहीं पैदा हो रहा।

कांग्रेस नेता ने कहा कि देश में निवेश नहीं हो रहा है न ही नई फैक्ट्रियां खुल रही हैं जिससे युवा बेचैन हैं क्योंकि उनके रोजगार के रास्ते बंद हो गए हैं। रमेश ने इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा और कहा कि पीएम कभी किसी से सुझाव नहीं लेते। उन्होंने कहा कि सरकार को देश की कोइ चिंता नहीं है।