जेएनयू छात्रसंघ का लाठीचार्ज का आरोप

फीस बढ़ौतरी के खिलाफ छात्रों का संसद मार्च पुलिस ने रोका

0
598

छत्रावास फीस में बड़ी बढ़ौतरी के खिलाफ सोमवार को दिल्‍ली के जेएनयू छात्रों और प्रशासन के बीच तो टकराव जारी ही रहा, छात्रों और पुलिस के बीच भी झड़प हो गयी। छात्रों ने आरोप लगाया है कि उनपर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। छात्र बढ़ी  फीस पूरी तरह वापस लेने की मांग के साथ संसद तक मार्च कर रहे हैं हालांकि उन्हें पुलिस ने सफदरजंग में रोक लिया है।

अभी तक की ख़बरों के मुताबिक छात्रों और पुलिस के बीच कई बार भिड़ंत हो चुकी है। इस बीच छात्रों ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज किया है।पुलिस ने कहा है कि लाठीचार्ज के छात्रों की आरोपों की जानकारी ली जाएगी। कहा गया है कि कई छात्र नेता हिरासत में लिए गए हैं।

छात्रों के आंदोलन को देखते हुए सोमवार को कुछ ऐसे मेट्रो स्टेशन जो संसद के आस-पास हैं, को बंद किया गया। इनमें पटेल चौक, उद्योग भवन और केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन प्रमुख हैं। संसद का सत्र भी आज शुरू हो गया, छात्र आंदोलन को देखते हुए उसके आसपास धारा १४४ लगाई गयी है।

संसद मार्च को लेकर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) ने कहा है कि देश में शुल्क वृद्धि बहुत अधिक पैमाने पर हो रही है लिहाजा समग्र शिक्षा के लिए छात्र आगे आए हैं। छात्र संघ ने सीबीएसआई, आईआईटी, नवोदय विद्यालय और उत्तराखंड में भी बढ़ी हुई फीस को भी खारिज किया है, साथ ही कहा है कि भारत के अन्य विश्वविद्यालयों में भी फीस कम की जाए। छात्र संघ का कहना है कि देश में विदेशी विश्वविद्यालय नहीं खुलने चाहिए, साथ ही किसी भी तरह से पब्लिक फंडेड यूनिवर्सिटी पर प्रहार नहीं होना चाहिए।