जीबी पंत अस्पताल ने भाषा पर विवादित सर्कुलर वापस लिया, राहुल गांधी ने किया था विरोध  

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली के एक सरकारी जीबी पंत अस्पताल के शनिवार को जारी किये गए उस सर्कुलर की कड़ी निंदा की जिसमें उसने अपने नर्सिंग स्टाफ को ड्यूटी के दौरान मलयालम भाषा नहीं बोलने का फरमान जारी किया। राहुल गांधी ने कहा कि किसी भी अन्य भारतीय भाषा की ही तरह मलयालम भी भारतीय भाषा है लिहाजा भाषा पर भेदभाव नहीं करना चाहिए। इस विरोध को देखते हुए अब रविवार को अस्पताल ने अपना यह विवादित सर्कुलर वापस ले लिया है।

सर्कुलर जारी करने पर अस्पताल का कहना था कि ज्यादातर मरीज और सहकर्मी इस भाषा को नहीं जानते हैं, जिस कारण बहुत असुविधा होती है। हालांकि, जीबी पंत नर्सेज एसोसिएशन के अध्यक्ष लीलाधर रामचंदानी ने भी कहा है कि एसोसिएशन इस सर्कुलर में इस्तेमाल किए गए शब्दों से असहमत है। वैसे उन्होंने दावा किया कि एक मरीज की तरफ से अस्पताल में मलयालम भाषा के इस्तेमाल पर की गयी एक शिकायत के बाद यह सर्कुलर जारी किया गया। विवादित सर्कुलर को आज अस्पताल ने वापस ले लिया।