जीत के बाद मोदी आडवाणी, जोशी से मिले

0
833

लोकसभा चुनाव में भाजपा और एनडीए की बड़ी जीत के बाद पीएम मोदी ने शुक्रवार को वरिष्ठम पार्टी नेताओं पूर्व उपप्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी के घर जाकर उनसे मुलाकात कर आशीर्वाद लिया। याद रहे चुनाव से पहले जिस तरह कुछ वरिष्ठ नेताओं के टिकट काटे गए थे, उसके बाद उनकी नाराजगी की खबरें बाहर आई थीं।
मोदी अमित शाह के साथ इन वरिष्ठ भाजपा नेताओं से मिले। बाद में पीएम मोदी ने  ने ट्वीट कर कहा – ”भाजपा की जीत आज संभव हो पाई है, क्योंकि आडवाणीजी जैसे लोगों ने पार्टी को मजबूत करने के लिए दशकों तक काम किया।’ गौरतलब है कि  आडवाणी-जोशी भाजपा के मार्गदर्शक मंडल में शामिल हैं।
उधर पीएम मोदी से भेंट के बाद मुरली मनोहर जोशी ने मीडिया से कहा – ”यह हमारी पार्टी की परंपरा है। हम वयोवृद्ध से शुभकामनाएं लेते हैं, ताकि भविष्य में और शक्ति के साथ काम कर सकें। इसी दृष्टि से प्रधानमंत्री जी और अध्यक्ष जी यहां आए थे। दोनों ने करिश्माई आंकड़ा हासिल किया। हमने पार्टी का बीज लगाया था। अब देश को स्वादिष्ट फल दिलाना इन दोनों की जिम्मेदारी है।”
जोशी ने यह भी कहा – ”एक बात स्पष्ट थी कि देश के सामने मजबूत सरकार बनाने की आवश्यकता थी। एक पार्टी के नाते भाजपा और प्रधानमंत्री के तौर पर मोदी का कोई विकल्प नहीं था। विपक्ष उनके सामने कुछ नहीं कर पाया। मैं सिर्फ एक उम्मीद करता हूं कि पार्टी अपना बेहतरीन काम करे और लोगों को नतीजे डिलीवर करे।’’ जोशी से जब एक पत्रकार ने पूछा कि मोदी उनके यहां १५ मिनट रहे तो जोशी का जवाब था – ”प्रधानमंत्री (मोदी) मेरे यहां महीनों रहे हैं, १५ मिनट तो बेहद कम हैं।”
इस बीच खबर है कि मोदी २८ मई को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में आभार रैली करेंगे। उनकी प्रधानमंत्री पद की दूसरी पारी की शपथ के लिए ३० को समारोह हो सकता है।