जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में हिंसा के बाद पांच जनवरी तक छुट्टी

0
710
जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में रविवार हुई हिंसा के बाद पांच जनवरी तक छुट्टी घोषित कर दी गई है। जामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों का कहना है कि वो किसी  प्रदर्शन में शामिल नहीं थे। छात्रों ने आरोप लगाया है कि पुलिस लाइब्रेरी के अंदर घुस गई और छात्रों की पिटाई की।
छात्रों के अनुसार उन्हें लाइन में लगाकर हाथ ऊपर उठाकर वहां से लाया गया। पीएचक्यू के सामने छात्रों का धरना अब ख़त्म हो गया है। छात्र सोमवार को घरों को जाते देखे गए हैं। इस हिंसा में छात्र और पुलिस के लोग दोनों घायल हुए हैं। प्रदर्शन की शुरुआत नागरिकता क़ानून के विरोध से हुई है।
सोमवार सुबह वहां हालत सामान्य दिखे हैं। वहां बड़ी संख्या में पुलिस तैनात की गयी है। विश्वविद्यालय में पांच जनवरी तक छुट्टी कर दी गई है। रविवार की घटना के बाद देश के कुछ अन्य जगह छात्रों ने प्रदर्शन करके इन छात्रों का समर्थन किया है।
दिल्ली सरकार ने साउथ ईस्ट जिले के सभी सरकारी और निजी  स्कूल बंद रखने की घोषणा की है। वहीं दिल्ली मेट्रो ने जिन १५ स्टेशनों पर कल आवाजाही के लिए रोक लगाई थी, उन्हें आज खोल दिया गया है। पुलिस ने दंगा फैलाने के आरोप में हिरासत में लिए गए ५० छात्रों की रिहाई के लिए पीएचक्यू पर देर रात डीयू और जेएनयू के छात्रों का प्रदर्शन जारी रहा। हालांकि करीब साढ़े तीन बजे रिहाई के बाद आखिरकार प्रदर्शन खत्म हो गया। छात्र घर और होस्टल वापस लौट गए।
सोमवार को इलाके में हालात सामान्य दिख रहे हैं। जामिया की तरफ जाने वाली सड़कों को अब आम यातायात के लिया खोला गया। जामिया में दिन के समय हुए हुड़दंग के बाद जामिया की तरफ जाने वाली सड़क जहापर पथराव हुआ जिसे आम यातायात के लिए बंद किया गया था। भारी सुरक्षा बल के बीच अब जामिया की तरफ जाने वाली सड़क को आम यातायात के खोल दिया गया है।
इससे पहले रविवार को दिल्ली के जामिया मिलि्लया इस्लामिया विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के बाद बढ़े तनाव के बीच अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में भी देर शाम बड़ी संख्या में छात्रों ने जबरदस्त हंगामा और पथराव किया। हालात के मद्देनजर विश्वविद्यालय को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारी छात्र विश्वविद्यालय के बाब-ए-सर सय्यद गेट पर एकत्र हुए और जगह-जगह लगाई गई बैरिकेडिंग तोड़ डाली और पथराव किया। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया।
तनाव को देखते हुए साउथ ईस्ट जिले के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया है। ये स्कूल आज बंद रहेंगे। आज जिन इलाकों के स्कूल बंद रहेंगे उसमें जमिया, ओखला, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और मदनपुर खादर के स्कूल शामिल हैं।
जामिया यूनिवर्सिटी में हंगामे की तपिश अलीगढ़ तक महसूस की गई। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के बाहर छात्रों ने प्रदर्शन किया। विरोध के दौरान छात्रों ने पुलिस पर पत्थरबाजी की तो वहीं पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े। अलीगढ़ में आज रात १० बजे तक इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई हैै। हालात पर काबू पाने के लिए आगरा जोन के एडीजी अजय आनंद एएमयू कैंपस पहुंच गए हैं। एएमयू प्रशासन ने पांच जनवरी तक यूनिवर्सिटी बंद रखने का फैसला किया है। पटना में भी नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन हुआ।