जम्मू ब्लास्ट का आतंकी गिरफ्तार

हमले में हिज़्बुल मुजाहिद्दीन का हाथ, नगरोटा में पकड़ा गया

0
590
जम्मू  पुलिस ने स्थानीय बस अड्डे पर गुरूवार सुबह ग्रिनेड ब्लास्ट करने वाले  आतंकी को गिरफ्तार कर लिया है। उसकी पहचान हो गयी है और यह बात सामने आई है कि  वह आज सुबह ही हमला करने के इरादे से कुलगाम के हिज़्बुल (एचएम) कमांडर के निर्देश पर आया था।
इस आतंकी की पहचान यासिर जावीद बट्ट के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। इस ग्रिनेड  व्यक्ति की मौत हो गयी है जबकि ३२ अन्य घायल हैं। मरने वाले की पहचान मोहम्मद शारिक के रूप में हुई है जो हरिद्वार के कल्याणपुर का रहने वाला था।
इस आतंकी को नगरोटा में गिरफ्तार किया गया जब वो ब्लास्ट करने के बाद जामु से फरार होकर कश्मीर की तरफ जा रहा था। सीसीटीवी में पुलिस ने जो फुटेज देखी थी उसके आधार पर इस आतंकी के वस्त्रों (जींस और कोटी) और लाल रंग के रुकसक वाली जानकारी तमाम नाकों पर भेज दी गयी थी।
नगरोटा में एसडीपीओ ने तुरंत जानकारी के आधार पर इसकी पहचान कर ली और उसे पकड़कर सख्ती से पूछताछ की गयी तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। पूछताछ में बट्ट ने खुलासा कि उसे कुलगाम के हिज़्बुल मुजाहिद्दीन (एचएम) के कमांडर फ़ारूक़ अहमद बट्ट ने ग्रिनेड ब्लास्ट करने का जिम्मा सौंपा था और उसीने उसे  ग्रिनेड भी उपलब्ध कराया था।
उसने यह भी खुलासा किया है कि वह आज सुबह की जम्मू पहुंचा था और आते ही उसने ब्लास्ट कर दिया और इसके बाद वहां से निकल गया। हालांकि चौकन्नी जम्मू पुलिस ने उसे धर-दवोचा। सीसीटीवी में उसकी तस्वीरों की पहचान होने के बाद तुरंत इसकी जानकारी सभी चेक पोस्ट्स पर फ्लैश कर दिए गए।
नगरोटा के एसडीपीओ ने जैसे ही बट्ट को देखा तुरंत उसे पहचान लिया। उसके पास उस समय भी लाल रंग का रुकसक बैग था जो हमले के समय उसके कंधे (पीठ) पर था। इस आतंकी से और पूछताछ की जा रही है।
पुलिस के मुताबिक ब्लास्ट में एक व्यक्ति की मौत हुई है। इसमें ३२ लोग घायल हुए हैं जिनमें ११ कश्मीर के, १० जम्मू के और ९ अन्य राज्यों के हैं। हालाँकि घायल दो की पहचान नहीं हो पाई है। ब्लास्ट म,ें मरने वाले की पहचान मोहम्मद शारिक पुत्र इंतज़ार के रूप में हुई है। यह ब्लास्ट सुबह ११.५० बजे हुआ था।