चुनाव से पहले ही कार्यकारी अध्यक्ष बनने को राजी हो सकते हैं राहुल गांधी !

राहुल गांधी को आज दिल्ली में हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में एक सुर से अध्यक्ष बनाने की मांग हुई। संगठन चुनाव का भी ऐलान कर दिया गया है जिसका काम पहली नवंबर से शुरू हो जाएगा। लेकिन आज की सीडब्ल्यूसी की सबसे बड़ी खबर यह है कि पूर्णकालिक अध्यक्ष के चुनाव, जिनके अगले साल अक्टूबर तक पूरा होने की सम्भावना है, से पहले ही राहुल गांधी कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष का पद संभाल सकते हैं।

‘तहलका’ की जानकारी के मुताबिक आज की सीडब्ल्यूसी की बैठक में जिस तरह राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की मांग हुई, उससे जाहिर हो गया है कि कथित असंतुष्ट (जी-23) खेमा अकेले पड़ चुका है। रही सही कसर आज अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूरी कर दी जिन्होंने पार्टी के बीच अनुशासन पर सख्ती से जोर दिया। सोनिया ने साफ़ कहा जिन्हें जो कहना है सीधे मुझ से बात करे, मीडिया के जरिये नहीं।

बैठक में जी-23 के तमाम नेता भी राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के समर्थन में दिखे। बैठक के बाद वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ल ने बताया – ‘जिन्हें आप जी-23 कहते हैं, वो भी राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के लिए सहमत हैं। सब ने मिलकर एक दम से पार्टी को अगले चुनावों से पहले पूरी तरह क्रियाशील करने का संकल्प किया है।’

बैठक के बीच में जब राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की बात हुई तो इसपर सभी ने समर्थन किया। उनसे कुछ नेताओं ने संगठन को और गति देने के लिए चुनाव से पहले  कार्यकारी अध्यक्ष का जिम्मा सँभालने का आग्रह किया। इसपर राहुल ने कहा -‘मैं इसपर विचार करूंगा।’ बैठक में उपस्थित नेताओं ने बताया कि राहुल की शारीरिक भाषा विशवास से भरी थी और वे इस आग्रह पर बहुत सकारात्मक दिख रहे थे। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि वे ‘कार्यकारी अध्यक्ष’ बनने को तैयार हो सकते हैं।