चुनाव बाद सीएम हमारा होगा : उद्धव ठाकरे

0
627

चार साल तक भाजपा और पीएम मोदी को कोसने और फिर तीन दिन पहले उससे लोक सभा चुनाव के लिए २३-२५ सीटों पर समझौता करने वाली शिव सेना ने अब कहा है कि विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री शिव सेना का ही होगा। वैसे अब चर्चा यह भी होने लगी है कि क्या भाजपा ने भविष्य के विधानसभा चुनाव के बाद के लिए सीएम की कुर्सी शिव सेना के लिए छोड़ दी है।

समझोत्ते के बाद पहली बार सेना कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सुप्रीमो उद्धव ठाकरे ने कहा – ”हमारा जो सपना था कि राज्य में शिवसेना का मुख्यमंत्री हो, वो पूरा होकर रहेगा।” वैसे भाजपा ने इसपर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को सेना सुप्रीमो का यह ब्यान आखर सकता है हालाँकि माना जाता है कि भाजपा नेतृत्व का पूरा फोकस लोक सभा चुनाव पर है लिहाजा शायद ही वहां से कोइ प्रतिक्रिया हो।

गौरतलब है कि सोमवार को ही लोकसभा चुनाव के मद्देनजर दोनों पार्टियों ने सीटों के बंटबारे का समझौता किया था। राज्य की ४८ लोकसभा सीटों में शिवसेना २३ और भाजपा २५ पर लड़ेगी। साथ यह भी घोषणा की गई थी कि दोनों पार्टियां विधानसभा चुनाव में बराबर-बराबर सीटों पर लड़ेगी। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ठाकरे ने भाजपा से गठबंधन के फैसले पर कहा – ”देश में जो राजनीतिक माहौल है उसमें सभी पार्टियां किसी न किसी के साथ होकर चुनाव के मैदान में उतर रही हैं। ऐसे में अलग रहकर राजनीति करना सही नहीं होगा।”

उन्होंने कहा – ”हमारी ताक़त कुछ कम नहीं। हम अकेले भी जाते तो जीत हमारी ही होती। लेकिन एक शब्द का मैंने कल इस्तेमाल किया था वो है कि अगर अविचारी लोग एक हो सकते हैं तो समविचारी लोग क्यों नहीं एक हो सकते।” समझौते  सीएम  फडणवीस ने कहा था कि पिछले विधानसभा चुनावों में कुछ कारणों की वजह से हम एक नहीं हो पाए लेकिन पिछले पांच साल से हम केंद्र की सरकार एक होकर चला रहे हैं। ”हमने अगले सारे चुनाव एक होकर लड़ने का निर्णय किया है। हम एक दूसरे को साथ लेकर, एक दूसरे के साथ विचार विमर्श कर आगे बढ़ेंगे।”