गुजरात में चुनावी माहौल गरमाया, हिंसा भी

0
79

गुजरात में 182 सीटों की विधानसभा के लिए चुनावी सरगर्मी ज़ोरों पर है। भाजपा कार्यकर्ताओं और पाटीदार (पास) के बीच राज्य में कई जगह झगड़े-फसाद और गिरफ्तारियों की सूचना मिली है। भाजपा के कई राष्ट्रीय नेता और केंद्रीय मंत्री गुजरात चुनावों के प्रचार कार्य में अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा रहे हैं। केंद्रीय रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण तो नरेंद्र मोदी की पूर्व विधानसभा सीट में चुनाव प्रचार में खासी जुटी हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात में चौथे चरण के चुनाव प्रचार में सक्रिय हैं। आप पार्टी ने गुजरात में दस विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं। गुजरात में शिवसेना भी पचास से पचहत्तर सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े कर रही है।
केंद्रीय रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार (11 नवंबर) को मणिनगर में विधानसभा क्षेत्र में तमिल बहुल इलाकों में चुनाव प्रचार किया। यह सीट नरेंद्र मोदी की थी जो उनके प्रधानमंत्री होने के बाद खाली हुई थी। खोखरा सर्किल पर भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद उन्होंने अपने चुनाव प्रचार का श्रीगणेश किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि ‘भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता की यह जिम्मेदारी है कि वह इस तरह चुनाव प्रचार करे कि पार्टी भावी चुनावों में बहुमत से जीते। खुद मोदी जी मणिनगर से लगातार तीन बार चुनावों में काफी अंतर से जीतते रहे हैं।Ó
उधर कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में चुनाव प्रचार के चौथे चरण में अपनी नवसर्जन गुजरात यात्रा की शुरूआत की गांधीनगर में अक्षरधाम मंदिर में दर्शन करके। अपने चुनावी भाषण में उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस तरह पांच सौ और हज़ार के नोटों को रात आठ बजे बंद होने की बात कहते हुए कहा कि चार घंटे बाद ये सिर्फ कागज़ के टुकड़े रह जाएंगे। उसी तरह उन्होंने ‘एक देश, एक करÓ के बहाने जीएसटी रात बारह बजे धूम-धड़ाके से लागू किया। लोग रु पए बंद किए जाने के कारण बैंकों के बातर कतारों में खड़े रहे लेकिन रईस लोग बैंक के पीछे के दरवाज़े से अपने नोट गुलाबी करते गए। गरीब कतार में ही लगा रहा। कई मरे भी। जीएसटी लागू होने के बाद युवाओं के रोज़गार खत्म हुए। छोटे-छोटे कल कारखाने बंद हो गए। मज़दूरों की छुट्टी कर दी गई।
भ्रष्टाचार खत्म करने की बात करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खामोश रहते हैं अमितशाह के बेटे की कंपनी और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी के बारे में जिन पर शेयरों मेें गड़बड़ी करने पर सेबी ने जुर्माना लगाया।
राहुल गांधी ने कहा कि जीएसटी का विरोध होने पर कुछ चीज़ों पर कर की प्रतिशतता कम हुई लेकिन अभी भी यह सहज नहीं हुआ। यदि कांग्रेस सत्ता में आई तो पांच दरों वाले जीएसटी को एक साधारण टैक्स में बदलेगी। उत्तर गुजरात के कस्बों और गांवों से गुजरते हुए राहुल गांधी का हर कहीं स्वागत दिखा। चंद्राला गांव में राहुल चाय के लिए रुके और गांव वालों से उन्होंने चाय पर चर्चा की। साबरकंठा जिले का प्रांतिज निर्वाचन क्षेत्र कांग्रेस की पांरपरिक सीट है। यहां ये कांग्रेस विधायक महेंद्र सिंह बरैया ने आरोप लगाया कि उन्हें भाजपा ने पार्टी छोडऩे के लिए पच्चीस करोड़ रु पए देने का प्रस्ताव किया था।
उधर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने राजकोट में कहा, वे (राहुल गांधी)बस में घूमते हुए लोगों तक जाते हैं। जबकि हम गुजराती लोगों के दिलों में बैठे हैं। उन्होंने भरोसा जताया कि गुजरात विधानसभा में भाजपा को बहुमत मिलेगा।