गाजा तूफ़ान से तमिलनाडु में अब तक १३ की मौत

0
333
तमिलनाडु में गाजा तूफान से अब तक १३ लोगों की मौत हो चुकी है और हज़ारों लोगों को सुरक्षित जगह पहुँचाया गया है। तमिलनाडु सरकार ने कहा है कि प्रत्येक मृतक के परिवार को १० लाख रुपए के राहत राशि दी जाएगी।
रिपोर्ट्स के मुताबिक गाजा तूफान तमिलनाडु के दूसरे जिलों में पहुंच सकता है। इसे देखते हुए  प्रशासन ने तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों को पहले ही सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया है। मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने बताया कि गाजा तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान नागपत्तनम जिले में हुआ है। राज्य में ४५० से ज्यादा राहत शिविर बनाए गए हैं जिनमें ८३ हज़ार लोगों को शेल्टर दिया गया है। प्रदेश सरकार ने केंद्र से भी राहत कार्य के लिए आग्रह किया है।
अब तक इस तूफ़ान में १३ लोगों की जान जा चुकी है। तूफ़ान में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को सरकार ने १० लाख और ज्यादा घायल होने वालों को एक लाख जबकि काम घायलों को २५ रूपये की राहत राशि देने का ऐलान किया है।
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गाजा तूफान को लेकर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी से फ़ोन पर बात की और प्रभावित इलाकों की जानकारी ली। सिंह ने मुख्यमंत्री को भरोसा दिलाया कि केंद्र राज्य को हालात से निपटने के लिए हर संभव मदद देगा।
गाजा तूफान शुक्रवार सबेरे तमिलनाडु तट से टकरा गया जिसके बाद से तमिलनाडु के तटवर्ती जिलों में लगातार तेज हवाएं चल रही हैं और  बारिश भी हो रही है। रिपोर्ट्स में कहा गया है की नागपत्तनम   में करीब १२० किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। नागपत्तनम और तिरूवरूर जिलों  में तूफान से आठ लोगों की मौत हुई है। कई जगह दर्जनों पेड़ तूफ़ान के चलते ज़मीन से उखड़ गए हैं।
राज्य सरकार ने तूफान प्रभावित जिलों में अलर्ट जारी कर दिया है। करीब ८३,००० लोग सुरक्षित जगह पहुंचाए गए हैं। आठ जिलों में स्कूल-कॉलेज अगले आदेश तक बंद कर दिए गए हैं।