क्या-क्या हो सकते हैं सत्ता समीकरण महाराष्ट्र में!

0
606

कल जिस तरह बीजेपी के चंद्रकांत पाटील ने दावा किया महाराष्ट्र सरकार बन जाएगी उसे देखते हुए भले ही माना जा सकता है कि देवेंद्र फडणवीस गुरुवार या शुक्रवार को दूसरी बार चीफ मिनिस्टर हद की शपथ लेने लेकिन शिवसेना के हट को देखते हुए यहां पर पेंच फंसा दिखाई देता है।

यह मानलें कि मामला सुलझ जाता है तो बीजेपी शिवसेना गठबंधन की सरकार बन सकती है।

यदि मामला नहीं सुुलझता, शिवसेना समर्थन नहीं देती तो बीजेपी अपने 105 सीटों के साथ इंडिपेंडेंट और छोटी मोटी पार्टियों को साथ जोड़कर सत्ता हासिल कर सकती है जो टेढ़ी खीर है।

बार-बार एनसीपी के साथ शिवसेना सांसद संजय राउत की मीटिंग को देखते हुए शिवसेना का एनसीपी के साथ मिलकर और कांग्रेस के बाहरी समर्थन के साथ शिवसेना सत्ता में आ सकती है।

बीजेपी 2014 की तरह एनसीपी के बाहरी समर्थन आकर अपनी सरकार बनाएं और शिवसेना का इंतजार करें।

और यह सभी विकल्प फेल हो जाते हैं तो ऐसी सूरत में राष्ट्रपति शासन संवैधानिक विकल्प के तौर पर रह जाता है। राष्ट्रपति शासन लागू होने पर राज्य के सभी अधिकार गवर्नर के पास होते हैं। 9 नवंबर को मौजूदा सरकार का कार्यकाल अपने आप समाप्त हो जाएगा।