क्या करोना भी सयासत की चपेट में है?

    भले ही देश के शहरों और गांवों में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा हो, पर लोगों में इस बार 2020 जैसा ना तो डर दिख रहा है, ना ही भय। दिल्ली के रेलवे स्टेशनों , बस अड्डों और अस्पतालों तक में भी ज्यादात्तर लोग बिना मास्क के देखें जा सकते है।

    गौरतलब है कि कोरोना को लेकर इस बार 2021 में लोगों में सवाल उठ रहे है कि क्या कोरोना भी सियासी हो गया है। क्योंकि कई राज्यों कोरोना बढ़ रहा है। तो जहां पांच राज्यों में चुनाव है वहां पर कोरोना को लेकर कोई चर्चा तक नहीं है। मतलब कोरोना है कि नहीं।

    तहलका संवाददाता से हुई बातचीत में दुकानदारों ने कहा कि अब करोना पूरी तरहा सयासी हो गया है । चाय, पानी और राशन की दुकान चलाने वाले जो, बिना डर और भय के बिना मास्क लगाये दुकानदारी कर रहे है उनका मानना  है कि देश में कोरोना पूरी तरह राजनीति की चपेट है। क्योंकि इस बार जो कोरोना का बढ़ता कहर दिखाया जा रहा है।