कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुये, उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव को टाला जा सकता था

देश में कोरोना बढ़ रहा है ये बात तो जगजाहिर , लेकिन कोरोना को लेकर लोगों में ना तो किसी प्रकार का भय देखा जा रहा है और ना ही चिंता। तहलका संवाददाता में हुई बातचीत में उत्तर प्रदेश के लोगों का कहना है कि कोरोना भी गजब का है, जहां पर चुनाव होते है वहां पर कोरोना नहीं होता है।

उत्तर प्रदेश बुलंदशहर निवासी संतोष कुमार ने बताया कि पांच राज्यों में विधान सभा के चुनाव चल रहे है। जमकर भीड़ हो रही है। कोई सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं हो रहा है। अब उत्तर प्रदेश में भी 15 अप्रैल से पंचायत चुनाव होने है। यानि गांव-गांव में भीड़ होनी लाज़मी है,  चुनाव में सोशल डिस्टेसिंग की उम्मीद करना ही बेमायने है। बुन्देलखण्ड़ के हिस्से वाले उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव 15 अप्रैल को है।