किसानों का रेल रोको जारी; कई जगह ट्रेन रोकी गईं, रेलवे ने कई रद्द भी कीं

संयुक्त किसान मोर्चा के रेल रोको आंदोलन का आम जनजीवन पर काफी असर पड़ा है। आंदोलनकारी किसानों का कहना है कि उनका आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा है। किसान लखीमपुर खीरी घटना के मद्देनजर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा , जिनका बेटा आशीष मिश्रा किसानों को कार के नीचे कुचलकर मार देने का मुख्य आरोपी है, के मंत्री पद से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

बता दें किसान आज देश भर में 6 घंटे तक ‘रेल रोको आंदोलन कर रहे हैं जो सुबह 10 बजे शुरू हो गया। यह शाम 4 बजे तक चलेगा। इसके तहत जगह-जगह ट्रेन रोकने का ऐलान किया गया है। आंदोलन का व्यापक असर दिख रहा है। रेल रोको को देखते हुए रेलवे ने कई ट्रेन रद्द करने का फैसला किया है। कुछ के रूट डायवर्ट कर दिए गए हैं। रोहतक में किसान नेता गुरमान सिंह चढूनी ने कहा कि सभी किसान भाई स्टेशनों के पास जाकर ट्रेनें रोकेंगे।

किसान मोर्चा ने आज सुबह एक बयान जारी कर कहा है कि रेल रोको पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहेगा और रेल संपत्ति को कोई क्षति नहीं पहुंचाई जाएगी। एसकेएम ने अपने सभी घटकों से दिशानिर्देश को सख्ती से पालन करने की अपील भी की है।

रेलवे की दी जानकारी के मुताबिक, बरेली से रोहतक जाने वाली नई दिल्ली तक आने वाली (02715) गाड़ी रद्द कर दी गई है जबकि नांदेड़ श्रीगंगानगर तिलकब्रिज पर  रोक कर रखी गई है। फिरोजपुर-फाजिल्का सेक्शन का फिरोजपुर सिटी यार्ड भी प्रभावित हुआ है। जिन और ट्रेन को रद्द किया गया है उनमें बहराईच से चलने वाली 05361 बहराईच-मैलानी स्पेशल, मैलानी-बहराईच स्पेशल गाड़ी, 05357 बहराईच-नानपारा और 05358 नानपारा-बहराईच स्पेशल गाड़ी शामिल है।

उधर पंजाब में किसान अमृतसर के देवी दासपुरा गांव में रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठ गए हैं। दिल्ली-कालका शताब्दी अम्बाला कैंट में रोक लिया गया। रेल रोको अभियान  के चलते कई ट्रेनें प्रभावित रहेंगी, उत्तर पूर्वी रेलवे ने दिल्ली-यूपी रूट की कुछ ट्रेनों को रद्द करने का ऐलान किया है। रेल रोको के कारण हाईवे जाम होने से दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम के अलावा कई जगहों पर भारी जाम लग गया।