कांग्रेस से भिड़ंत में ३ टीएमसी वर्कर्स की मौत

बंगाल में थम नहीं रही राजनीतिक हिंसा के घटनाएं

0
966

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक दलों के बीच हिंसा थम नहीं रही है। नई घटना में कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का कार्यकर्ताओं के बीच झड़प में टीएमसी के ३ कारकर्ताओं की जान चली  गयी है।
घटना शनिवार सुबह की है। सुबह तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच भिड़ंत हो गई जिसमें टीएमसी के तीन कार्यकर्ताओं की जान चली गयी। पिछले दिनों में बंगाल में राजनीतिक हिंसा में कई लोगों की जान जा चुकी है। शनिवार को यह भिड़ंत किस कारण से हुई,  इस का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है।
टीएमसी के जान गंवाने वाले कार्यकर्ताओं में खैरुद्दीन शेख, सोहेल राणा के अलावा  एक अन्य कार्यकर्ता शामिल है। लोक सभा चुनाव के समय से पश्चिम बंगाल में भाजपा ओर टीएमसी के बीच भिड़ंत के मामले देखने में आये हैं हालांकि यह सम्भवता पहली बार है जब कांग्रेस और तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच भिड़ंत हुई हो।
रिपोर्ट्स के मुताबिक सोहेल राणा और खैरुद्दीन शेख अल्ताफ हुसैन के बेटे थे। घटना के बाद इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस तैनात कर दी गयी है। टीएमसी ने इस मामले में कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है।
जानकारी के मुताबिक खैरुद्दीन शेख के बेटे के मुताबिक़, जिस समय हमला हुआ तब सब सो रहे थे। अचानक उनके घर पर बम से हमला हुआ जिससे उनके पिता की जान चली गई। उन्होंने कहा कुछ ही दिन पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ही उनके चाचा की हत्या की थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।