कश्मीर पर फैसला देश के इतिहास में एक काला दिन : आज़ाद

0
1186

जम्मू-कश्मीर से धारा ३७० हटाने का फैसला और सूबे के दो टुकड़े करने का बिल आने के बाद राज्य सभा में कांग्रेस समेत कई विपक्षी और जेडीयू जैसे एनडीए के घटकों ने भी फैसले का विरोध जताया है।

राज्यसभा में बिल लाये जाने के बाद सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने फैसले का जबरदस्त तरीके से विरोध करते हुए भाजपा पर वोट के लिए कश्मीर से खेलने का आरोप लगाया। आज़ाद ने कहा कि भाजपा ने वोट के चक्कर में कश्मीर के टुकड़े कर दिए। ये दिन देश के लिए काला दिन है।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने लद्दाख को यूटी के दर्जे पर कहा कि लद्दाख में कारगिल के मुसलमानों और लदाख के बौद्धों में टकराव पैदा होगा। उन्होंने कहा जिस दिन ये कानून पास होगा वो भारत के इतिहास में काला धब्बा होगा।

आजाद ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के इतिहास की शुरुआत वहां के प्रधानमंत्री के साथ हुई थी, लेकिन अब आपने उसे लेफ्टिनेंट गवर्नर पर लाकर खत्म कर दिया है। आप चपरासी की नियुक्ति भी खुद करना चाहते हैं। अगर आप चार महीने इंतजार करते तो विधानसभा चुनाव के बाद आसानी से फैसला हो सकता था। आज़ाद ने कहा कि आपने वोट लेने के लिए कश्मीर के टुकड़े कर दिए। उन्होंने कहा कि भाजपा ने संविधान की हत्या करके एक राज्य के इतिहास को ही खत्म कर दिया है। देश के नक़्शे से एक  राज्य ख़त्म हो गया। पहले २९ थे अब २८ रह गए।

उन्होंने कहा कि आप इसको लेकर कानून मत पढ़िए, जरा इतिहास देखिए कि आपने क्या किया है। जब से फोर्स को कश्मीर भेजा गया, तभी से कई तरह की आशंकाएं सामने आ रही थीं।