कर्मचारियों के हितों की रक्षा की जाएगी, सभी बैंकों का निजीकरण नहीं होगा: निर्मला सीतारमण

बैंकों के निजीकरण और विनिवेश संबंधी फैसलों के विरोध में बैंक कर्मचारीयों की 2 दिन की हड़ताल जारी है,  जिसके बीच आज वित्त मंत्री सीतारमण का बयान आया है कि सभी बैंको को निजीकरण नही किया जायेगा।

निर्मला सीतारमण ने भरोसा दिलाते हुए कहा कि देश के सभी  बैंको को निजीकरण नहीं किया जाएगा बलकि जिन बैंकों का निजीकरण होगा, उनके सारे कर्मचारियों के हितों की रक्षा की जाएगी। सरकार ने बजट में दो सरकारी बैंकों के निजीकरण की घोषणा की थी, हालांकि इनके नाम अभी नही बताये गये है।

गौरतलब है कि यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के तले दो दिन की हड़ताल जारी है जिसमें नौ बड़ी बैंक यूनियन शामिल हैं। हड़ताल के चलते 15 और 16 मार्च को बैंक सेवांए बाधित रहेगी।

सीतारमण के मुताबिक, दो बैंकों के निजीकरण का निर्णय सोचा-समझा फैसला है। इसमें किसी प्रकार की कोई जल्दबाजी नहीं है। सरकार चाहती हैं कि बैंक देश की आकांक्षाओं पर खऱे उतरें। वित्त मंत्री ने आश्वासन दिया कि बैंकों के सभी मौजूदा कर्मचारियों के हितों की रक्षा हर कीमत पर की जाएगी।