करूणानिधि की हालत बेहद नाजुक और अस्थिर

अस्पताल और घर के बाहर जुटने लगे हज़ारों समर्थक, पुलिस को अलर्ट पर रखा गया

0
485

काफी दिन से चेन्नेई के कावेरी अस्पताल में भर्ती द्रमुक अध्यक्ष एम करूणानिधि की हालत बेहद नाजुक और अस्थिर बताई गयी है। वह पिछले 11 दिन से इस अस्पताल में भर्ती हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक राज्य भर में पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है जिससे संकेत मिलते हैं हैं कि बुजुर्ग नेता करुणानिधि की हालत अच्छी नहीं है। अस्पताल के हेल्थ बुलेटिन में भी करुणानिधि की सेहत को लेकर कहा गया है कि पिछले कुछ घंटों में इसमें तेजी से गिराबट आई है। बड़ी संख्या में करुणानिधि के समर्थक कावेरी अस्पताल और उनके आवास के बाहर जमा हो गए हैं और वे अपने प्रिय नेता के लिए दुआ कर रहे हैं। करुणानिधि के परिवार के तमाम सदस्य जिनमें स्टालिन भी शामिल हैं, इस समय अस्पताल में मौजूद हैं।
इस से पहले सोमवार शाम कावेरी अस्पताल की ओर से जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन में कहा गया था कि

कारयणानिधी की तबीयत बहुत नाजुक है और अगले 24 घंटे उनके लिए बहुत अहम हैं। करुणानिधि 29 जुलाई से चेन्नई के कावेरी अस्पताल के इंटेंसिव केयर यूनिट (आईसीयू) में भर्ती हैं और उनका इलाज चल रहा है। इस दौरान देश के कई बड़े नेता जिनमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा शामिल हैं, उन्हें देखने अस्पताल जा चुके हैं। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी आज रात चेन्नई पहुँच रही हैं।
कावेरी अस्पताल के बयान में कहा गया है कि करुणानिधि की उम्र के हिसाब से उनके शरीर के सभी अंग काम नहीं कर रहे हैं। डॉक्टर उन पर लगातार नजर बनाए हुए हैं और एक्टिव मेडिकल सपोर्ट दिया जा रहा है।

गौरतलब है कि तीन जून को करुणानिधि ने अपना 94वां जन्मदिन मनाया था। करीब ५० साल पहले 26 जुलाई को उन्होंने डीएमके की कमान अपने हाथ में ली थी। लंबे समय तक करुणानिधि के नाम हर चुनाव में अपनी सीट न हारने का रेकार्ड भी रहा है।

वे पांच बार सीएम और 12 बार विधानसभा सदस्य रहे हैं। अभी तक वह जिस भी सीट पर चुनाव लड़े हैं, उन्होंने हमेशा जीत दर्ज की। करुणानिधि ने 1969 में पहली बार राज्य के मुख्यमंत्री का पद संभाला था और इसके बाद 2003 में आखिरी बार मुख्यमंत्री चुने गए थे।