ऑस्ट्रेलिया में दस साल बाद भारत की जीत

सीरीज में १-० से आगे, पंत के पीछे पंत के रेकार्ड ११ शिकार

0
806
दस साल के बाद ऑस्ट्रेलिया में भारत ने जीत का झंडा गाड़ दिया। ऑस्ट्रेलिया की जमीन पर पहला टेस्ट जीतकर भारतीय टीम ने बता दिया कि ऑस्ट्रेलिया को उसकी ही धरती पर हराया जा सकता है। सोमवार को भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहले टेस्ट में ३१ रन से हराकर सीरीज में १-० के बढ़त ले ली। भारत की तरफ से विकेटकीपर ऋषभ पंत ने लाजवाब प्रदर्शन किया और रेकार्ड ११ शिकार किये।
इससे पहले भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पर्थ में जनवरी २००८ में ७२ रन से  हराया था। वैसे इतिहास में सिर्फ पहला मौका है जब भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में सीरीज का पहला ही टेस्ट जीत लिया हो। जीत के लिए ३२३ रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक मौके पर ऑस्ट्रेलिया भारत के लिए खतरा बनता दिख रहा था लेकिन पूरी टीम २९१ पर आउट हो गयी।
जीत के बाद कप्तान विराट कोहली ने कहा कि भारत जीत के इरादे से मैदान में था और अगले मैचों में भी भारत की यही स्ट्रॅटजी रहेगी। भारत ने लंच से पहले ट्रेविस हेड और शॉन मार्श को आउट कर जीत की तरफ लम्भी छालांग लगाई। लंच के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम को कप्तान टिम पेन से काफी उम्मीदें थीं लेकिन वह लंच के बाद दूसरे ही ओवर जसप्रीत बुमराह की गेंद पर पुल करने के प्रयास में ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट हो गए। यह पंत का इस मैच में १०वां कैच था, जो ऋद्धिमान साहा के भारतीय रेकॉर्ड की बराबरी है। आउट होने से पहले उन्होंने सातवें विकेट के लिए उन्हें कमिंस के साथ 31 रन जोड़े।
भारत के विकेटकीपर रिषभ पंत ने विश्व रेकार्ड की बराबरी कर ली। सबसे  ज्यादा शिकार करने वाले विकेटकीपर्स की सूची में वे संयुक्त रूप से पहले नंबर पर आ गए हैं। इंग्लैंड के जैक रसल और साउथ अफ्रीका के एबी डिविलियर्स भी एक मैच में ११ शिकार कर चुके हैं। यह ऋषभ का अभी पांचवां ही टेस्ट है। ५ वें टेस्ट में ९ शिकार लपक लेने का रेकार्ड पहले  वेस्‍टइंडीज के डेविड मरे के नाम था, जिन्होंने १९८१ की सीरीज में विकेट के पीछे नौ शिकार किए थे।
आज बुमराह ने भारत को मार्श का कीमती विकेट दिलाया। यह महत्वपूर्ण मोड़ ७३ वें ओवर में आया जब बाहर की तरफ मूव करती गेंद मार्श के बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर ऋषभ पंत के दस्तानों में समा गई। पंत का यह इस मैच में नौवां शिकार था और इस तरह से उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी (आस्ट्रेलिया के खिलाफ २०१४ में मेलबर्न में नौ शिकार) की बराबरी की। बुमराह, अश्विन और मोहम्मद शमी ने ३-३ विकेट अपने नाम किए, जबकि ईशांत को एक विकेट मिला।
स्कोर : भारत – 250 आल आउट और 307 आल आउट
ऑस्ट्रेलिया – 235 आल आउट और 291 आल आउट।