एक करोड़ रोजगार चले गए, जीडीपी ९ से ५ फीसदी पहुंच गया, यही मोदी की उपलब्धि : राहुल गांधी

0
1434

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा पीएम मोदी और केंद्र सरकार पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि देश में पिछले एक साल में एक करोड़ युवाओं का रोजगार चला गया है और यूपीए सरकार के समय देश का जो जीडीपी ९ फीसदी था वह मोदी के कार्यकाल में सिर्फ पांच फीसदी पर पहुँच गया जो बहुत चिंताजनक स्थिति है।

राजस्थान के जयपुर में युवा आक्रोश रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कि देश की इतनी डांवाडोल हालत पर प्रधान मंत्री मोदी खामोश हैं और उनकी सरकार ऐसे मुद्दों पर केंद्रित है जिनसे देश में तनाव बन रहा है और जनता के बीच असंतोष बढ़ रहा है।

कांग्रेस नेता ने जनता से कहा कि वे उन्हें एक सन्देश देने आए हैं। उनहोंने कहा – ”कांग्रेस पार्टी का मानना है कि देश को सिर्फ एक शक्ति बदल सकती है और वो है हिंदुस्तान का युवा। आज आपको रास्ता और विजन दिखाई नहीं दे रहे। रोजगार नहीं मिल रहा। लेकिन, आपमें वो ऊर्जा है जो देश को बदल सकती है। पूरी दुनिया आपकी तरफ देख रही है। आप अपनी शक्ति को पहचानो।”

जयपुर के अल्बर्ट हॉल में आयोजित इस कार्यक्रम में कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार जब सत्ता में थी तो देश की विकास दर नौ फीसदी थी जो मोदी सरकार घट कर अब सिर्फ ५ फीसदी रह गई है। उन्होंने कहा – ”हम गरीबों को पैसा देते थे, जिससे बाजार की खपत बढ़ती थी और ग्रोथ होती थी, लेकिन मोदी ने इकोनॉमिक्स नहीं पढ़ा, इसलिए उन्हें यह बात समझ नहीं आती।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि दुनिया के हर देश के पास अपनी कोइ न कोइ पूंजी है। अमेरिका के पास हथियार, सबसे बड़ी नेवी, एयरफोर्स और आर्मी है। सऊदी के पास तेल है जबकि हिंदुस्तान के पास करोड़ों युवा हैं। ”आज में दुख से कहता हूं कि २१वीं सदी का हिंदुस्तान अपनी पूंजी को बर्बाद कर रहा है। जो आप इस देश के लिए कर सकते हैं, उसे सरकार और हमारे पीएम होने नहीं दे रहे हैं।”

राहुल गांधी ने कहा कि आज हिंदुस्तान का युवा कॉलेज स्कूल में जाकर पढ़ता है, लेकिन पढ़ाई के बाद उसे रोजगार नहीं मिलता। हमारे पीएम जहां भी जाते हैं, एनआरसी सीएए और एनपीआर की बात करते हैं। इस समस्या पर पीएम एक शब्द नहीं बोलते।

कांग्रेस नेता ने कहा कि मनमोहन सरकार के समय जब ग्रोथ रेट ९ फीसदी था, पूरी दिनया भारत की तरफ देख रही थी। ”अब जीडीपी नई तरीके से नापी जाती है, तो वह घटकर ५ फीसदी रह गई है। यदि यूपीए के तरीके से नापें, तो यह सिर्फ २.५ फीसदी ही है। यूपीए के समय हम पैसा गरीबों को देते थे। हिंदुस्तान के गरीब लोग माल खरीदते थे, तो फैक्ट्रियां चालू हो जाती थीं। उन्ही फैक्ट्रियों में रोजगार मिलता था और इन्वेस्टमेंट आता था।”

नागरिकता संशोधन क़ानून और एनआरसी जैसे मुद्दों के खिलाफ लगातार जारी  प्रदर्शनों पर राहुल ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने दुनिया में हिंदुस्तान की छवि खराब की। पूरी दुनिया कहती थी एक तरफ पाकिस्तान है, जो हमेशा लड़ता है। दूसरी तरफ हिंदुस्तान है, जो प्यार और भाईचारा सिखाता है। ”इस छवि को नरेंद्र मोदी ने बर्बाद कर दिया। आज युवा जब पीएम से सवाल करते हैं कि देश की इमेज क्यों खराब की, तो उन पर गोली चलाई जाती है। मैं चेलेंज देता हूं पीएम किसी भी यूनिवर्सिटी में चले जाएं और युवाओं से सवाल पुछवाकर देख लें। नरेंद्र मोदी उनका जवाब नहीं दे सकते।”