उमर पर पीएसए लगाने के खिलाफ बहन सारा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की

0
1082
जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री और नैशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्‍दुल्‍ला की बहन सारा अब्‍दुल्‍ला ने भाई को जन सुरक्षा क़ानून (पीएसए) के तहत नजरबंद किए जाने के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर की है। उमर को पिछले हफ्ते ही पीएसए के तहत नजरबंद किया गया है। वैसे वे ४ अगस्त के बाद के बाद से ही कश्मीर में नजरबन्द हैं।
उमर के अलावा पीडीपी नेता और पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती के खिलाफ भी पीएसए के तहत मामला दर्ज किया गया है और वे भी नजरबंद हैं। उमर को भी पीएसए के तहत नजरबंद किया गया था और अब सुप्रीम कोर्ट उनकी बहन की इस याचिका पर सुनवाई करेगा।
कश्मीर में किसी नेता को हिरासत में रखे जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में यह पहली याचिका है। महबूबा और उमर के खिलाफ पीएसए उस समय लगाया गया जब उनकी छह माह से जारी नजरबंदी को खत्‍म होने में बस कुछ घंटों का समय बाकी था। अगस्‍त २०१९ में जब केंद्र सरकार ने अनुच्छेद ३७० को घाटी से हटाया था तो उसके बाद से ही उमर और उनके पिता फारूख अब्‍दुल्‍ला को नजरबंद रखा गया है।  उमर की बहन सारा, जिन्होंने भाई पर पीएसए लगाने को चुनौती दी है वो कांग्रेस नेता और राजस्‍थान के उप-मुख्‍यमंत्री सचिन पायलट की पत्‍नी हैं। उमर अभी श्रीनगर के हरि निवास में पुलिस की हिरासत में रखे गए हैं।