उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बजट का कोई असर नहीं

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में केन्द्रीय बजट का कोई खास असर नहीं है। यहां के लोगों का कहना है कि बजट तो लोकलुभावन वाला हर साल पेश किया जाता रहा है। लेकिन धरातल पर उसका लाभ बड़े-बड़े लोगों को ही मिलता है। जिनके कारोबार बड़े है। यहां के लोगों को और किसानों की समस्या जस की तस है। जो समस्या है, उसका समाधान राज्य सरकार के पास ही है। लेकिन समस्या का समाधान कम ही दिख रहा है।

बताते चलें भाजपा की सरकार केन्द्र में है और प्रदेश में है। सो भाजपा के नेता तो बढ़चढ़ कर बजट की तारीफ कर रहे है और देश हित के साथ –साथ सभी वर्ग के लोगों के लिये लाभकारी वाला बजट बता रहे है।वहीं सपा, बसपा और कांग्रेस के लोगों का कहना है कि केन्द्र सरकार ने गरीबों के लिये कोई खास योजनायें नहीं दी है और न ही कोई राहत दी है। जो भी बजट में है वो अमीरों के लिये है। उनका कहना है कि कोरोना काल चल रहा है। शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाये चौपट पड़ी है। उस पर सरकार ने कोई खास नहीं किया है।