ईरान

0
470

Team_Page_23


विश्व रैंकिंग: 43
सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शनप्रथम चरण (1978, 1998, 2006) 

खास बात
ईरानी टीम की खास बात है इसकी ठसक. क्वालीफाइंग मुकाबलों में उसका आखिरी मैच दक्षिण कोरिया से था. ईरानी टीम के कोच कार्लोस क्वीरोज ने उस मैच के दौरान दुखी भाव लिए द. कोरिया के कोच का एक फोटो अपनी शर्ट पर टांक रखा था. प्रशंसकों को यह अंदाज खूब पसंद आया

एशिया में ईरान की रैंकिंग पहली है और क्वालीफाइंग मुकाबलों में उसने यह बात साबित भी की. ईरानी टीम ने अपने ग्रुप में सबसे ऊपर रहते हुए विश्व कप में प्रवेश किया है. क्वालीफाइंग मैचों की शुरुआत में उसका प्रदर्शन कुछ खास नहीं था, लेकिन फाइनल ग्रुप के तीनों मैच और दक्षिण कोरिया के खिलाफ आखिरी मैच में फारसियों का प्रदर्शन शानदार रहा. ईरानी टीम के बारे में एक बात महत्वपूर्ण है कि क्वालीफाइंग मुकाबलों में वह 10 क्लीन शीट ( दस मैचों में टीम के विरुद्ध एक भी गोल नहीं हुआ) के साथ काफी रक्षात्मक दिखाई दी. यह उसकी कमजोरी भी है और ताकत भी. इन मैचों में उसका आक्रामक प्रदर्शन दिखाई नहीं दिया. इसके बावजूद भी इस टीम से विश्वस्तरीय प्रदर्शन की उम्मीद की जा सकती है. टीम के दो खिलाड़ी – अश्कान देजगह (फुल्हम के मिडफील्डर) और रेजा घूचन्नेजाद (चार्ल्टन क्लब के स्ट्राइकर) इंग्लैंड में खेलते हैं. फिर मिडफील्डर के तौर पर खेलने वाले जवाद निकोनम भी हैं जिन्हें ईरान का सबसे खूबसूरत खिलाड़ी कहा जाता है. हालांकि ईरान को दूसरे राउंड में जाने के लिए मैचों में सही समय पर जवाद का अनुभव और 26 वर्षीय रेजा की चुस्तीफुर्ती की जरूरत होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here