आईसीसी की ‘बलिदान बैज ग्लव्स’ को न, धोनी बोले नहीं पहनूंगा

0
452
बीसीसीआई की चिट्ठी को दरकिनार कर आईसीसी ने नियमों का हवाला देते हुए  भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को ”बलिदान बैज” वाले ग्लव्स पहनकर मैच खेलने की इजाजत देने से साफ़ मना कर दिया है। इसके बाद धोनी ने भी कहा है कि अगर ऐसा करना नियमों का उल्लंघन है तो वो अगले मैच से बलिदान बैज वाले ग्लव्स नहीं पहनेंगे।
धोनी के इन ग्लव्स को पहनकर खेलने से विवाद पैदा हो गया था। सेना ने कहा कि जो ग्लव्स धोनी पहन  रहे हैं वे वास्तव में बलिदान बैज वाले ग्लव्स नहीं हैं। खेल मंत्री किरण रिजिजू ने भी बीसीसीआई से अपना पक्ष रखने को कहा था। उनका कहना था कि देश की इज्जत पर आंच नहीं आने दी जा सकती है। भारत में  ग्लव्स पहनकर खेलने के बाद जनता का जबरदस्त समर्थन मिला था।
बीसीसीआई ने धोनी का पक्ष लेते हुए आईसीसी को पत्र लिखकर कहा था कि यह ग्लव्स पहनना किसी नियम का उल्लंघन नहीं दिखता। हालांकि आईसीसी ने बीसीसीआई की दलील को खारिज करते हुए धोनी को बलिदान बैज वाले पहनने की  इजाजत नहीं दी है।
भारतीय खिलाड़ी ने कहा है कि अगर ऐसा करना नियमों का उल्लंघन है तो वो अगले मैच से बलिदान बैज वाले ग्लव्स नहीं पहनेंगे। इससे पहले बीसीसीआई ने बताया था कि उसने पहले ही आईसीसी से इन ग्लव्स को पहनने की अनुमति ली थी।
गौरतलब है कि  धोनी टेरिटोरियल आर्मी में हैं। उन्हें भारतीय सेना की पैरा स्‍पेशल फोर्स में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद उपाधि मिली थी। उनके किट बैग का रंग भी सेना की जर्सी जैसे रंग का ही है। धोनी के दस्तानों पर ”बलिदान” चिह्न है। सिर्फ पैरामिलिट्री कमांडो को ही इसे धारण करने का अधिकार है।