आईटी छापे : सीबीडीटी अध्यक्ष, राजस्व सचिव ने आयोग को दी सारी जानकारी

0
567
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग के छापे के बाद सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (सीबीडीटी) के अध्यक्ष और राजस्व सचिव ने मंगलवार को चुनाव आयोग से मुलाकात कर इससे जुडी कार्रवाई की जानकारी दी। उधर सीएम कमलनाथ ने इसे राजनीतिक साजिश बताते हुए आरोप लगाया है कि  कि राजनीतिक दृष्टि से जो करने का प्रयास किया जा रहा है, उसमें कोई सफल होने वाला नहीं है।
इस बीच सीएम के पूर्व ओएसडी प्रवीण कक्कड़ ने इनकम टैक्स के छापों के खिलाफ मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। मंगलवार को कमलनाथ के निजी सचिव रहे प्रवीण कक्कड़ के सहायक अश्विन शर्मा के घर वन विभाग की टीम पहुंची। अश्विन शर्मा के घर से बाघ, काला हिरण, तेंदुए, सांभर, चीतल के अवशेषों सहित बड़ी संख्या में सजावटी सामान (ट्रॉफियां) बरामद हुए हैं। अब अश्विन पर वन्यजीव संरक्षण कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।
उधर सीएम कमलनाथ ने इस पूरे मामले को राजनीतिक साजिश बताते हुए कहा कि राजनीतिक दृष्टि से जो करने का प्रयास किया जा रहा है, उसमें कोई सफल होने वाला नहीं है। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक कक्कड़ के घर से आयकर टीम को कुछ खास नहीं मिला है। बैंक लॉकर में ४८ लाख और घर से ३० लाख की ज्वेलरी मिली है, जिसके बारे में कक्कड़ के सीए का कहना है कि सारी ज्वेलरी रिटर्न में शो की गई है।
इस बीच कक्कड़ ने बताया है कि रात ३.३० बजे के करीब आईटी टीम उनके घर का दरवाजा तोड़ कर अंदर दाखिल हुई थी। ”दो दिन तक छानबीन के बाद भी उन्हें जब्त करने लायक कुछ नहीं मिला। घर-ऑफिस और दोनों बैंक लॉकर भी चेक किए, लेकिन गोल्ड-कैश और कोई भी आपत्तिजनक चीज नहीं मिली।” हालांकि, उन्होंने टीम की तरफ से किसी प्रकार के टॉर्चर से इंकार। ”सीबीडीटी ने जो प्रेस रिलीज जारी की है उसके बारे में मुझे जानकारी नहीं है। हवाला और राजनीतिक फंडिंग से मेरा कोई लेना-देना नहीं है”।