अभिनन्दन की कॉकपिट में वापसी

एयर चीफ धनोआ के साथ पठानकोट क्षेत्र में मिग-२१ में भरी उड़ान

0
904

विंग कमांडर अभिनन्दन की कॉकपिट में वापसी हो गयी है। सोमवार को उन्होंनेको-पायलट के रूप में एयर चीफ बीएस धनोआ के साथ पठानकोट एयर बेस से मिग-२१ उड़ान भरी। लैंडिंग के बाद धनोआ ने खुलासा किया कि अभिनन्दन और उनमें तीन बातें एक जैसी हैं जिनमें एक यह भी है कि हम दोनों पाकिस्तान के साथ ”कन्फ्लिक्ट” के दौरान ”इजेक्ट” हुए। धनोआ कारगिल युद्ध और अभिनन्दन बालाकोट के बाद पाक के फाइटर खदेड़ने के दौरान।

कुछ दिन से ख़बरें आ रही थीं कि अभिनन्दन फिर मिग-२१ में उड़ान भर सकते हैं। गौरतलब है कि पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों एफ-१६ को खदेड़ने वाले फाइटर पायलट अभिनंदन को कुछ समय पहले ही दुबारा उड़ान भरने के लिए फिट करार दिया गया था। अब उन्होंने एयरफोर्स चीफ के साथ मिग-२१ उड़ाकर शानदार वापसी की है।

एयरफोर्स चीफ धनोआ भी मिग- २१ पायलट रहे हैं और उन्होंने १९९९ के कारगिल युद्ध के दौरान मिग-२१ से दुश्मनों के दांत खट्टे किये थे। धनोआ तब १७वीं स्क्वॉर्डन को कमांड कर रहे थे।

एयरफोर्स के पायलट अभिनंदन बालाकोट के बाद भारतीय जनता के हीरो बन गए थे। उन्होंने बालाकोट एयरस्ट्राइक के ठीक बाद पाकिस्तानी एयरफोर्स के भारतीय सीमा में घुसने के दौरान अपने मिग-२१ विमान से उड़ान भरी थी और पाकिस्तानी विमानों का पीछा करते हुए अभिनंदन ने उनके एक एफ-१६ विमान को मार गिराया था।

हाल ही में अभिनन्दन को उनकी वीरता के लिए ”वीर चक्र” से सम्मानित किया गया है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मिलने वाले वीरता पुरुस्कारों के लिए उनका भी नाम शामिल किया गया था। अभिनंदन की एयरफोर्स में वापसी ऐसे समय में हो रही है जब  भारत-पाक के बीच फिर तनाव उभरा है।