अपने कथक से दुनिया को मंत्रमुग्ध करने वाले बिरजू महाराज का निधन

दुनिया भर को अपने कथक नृत्य से मंत्रमुग्ध कर देने वाले पद्म विभूषण से सम्मानित बिरजू महाराज (पंडित ब्रजमोहन मिश्र) का रविवार देर रात निधन हो गया। ‘पंडित’ जी और ‘महाराज जी’ के नाम से भी मशहूर रहे बिरजू महाराज (83) का निधन दिल का दौरा पड़ने से तब हुआ जब अचानक सांस दिक्कत के बाद वे अचेत हो गए और अस्पताल ले जाने पर डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। कला जगत की बड़ी हस्तियों ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

हाल तक किडनी की समस्या झेल रहे बिरजू महाराज की मृत्यु को लेकर उनके पोते स्‍वरांश मिश्रा ने फेसबुक पोस्‍ट डाली है। स्‍वरांश ने लिखा – ‘गहरे दुख के साथ हमें बताना पड़ रहा है कि आज हमने अपने परिवार के सबसे प्रिय सदस्य पंडित बिरजू जी महाराज को खो दिया। उन्होंने 17 जनवरी को अंतिम सांस ली। उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करें।’

उनकी पौत्री रागिनी महाराज ने भी एक पोस्ट में बताया कि ‘बिरजू महाराज का पिछले एक माह से इलाज चल रहा था। उन्‍हें रविवार देर रात 12:15 बजे और 12:30 बजे के बीच सांस लेने में तकलीफ हुई जिसके बाद उन्‍हें 10 मिनट में अस्‍पताल ले जाया गया। लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।’