हिमाचल बन रहा अपराध का अड्डा

0
296

पहाड़ी सूबे हिमाचल की जनता प्रदेश में बढ़ती अपराध घटनाओं से बहुत चिंता है। किसी समय अपनी सुरक्षा के लिए जाने जाने वाले हिमाचल प्रदेश में अपराध, खासकर रेप की घटनाएं बड़ी चिंता के रूप में सामने आ रही हैं। शिमला के निर्भया गैंग रेप मामले के बाद दर्जनों घटनाएं इस बात का सबूत हैं कि हिमाचल पहले जैसा हिमाचल नहीं रहा और यहाँ लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा एक बड़े मुद्दे के रूप में सामने आ रही है।

तहलका की छानबीन से सामने आया है कि पिछले सात महीने के अपेक्षाकृत छोटे समय में हिमाचल में रेप की 197 घटनाएं पुलिस के पास रिपोर्ट हुई हैं। इसके अलावा 333 छेडख़ानी जबकि महिला उत्पीडऩ के 98 मामले सामने आए हैं। हिमाचल जैसे राज्य के लिए यह आंकड़े बहुत चिंता पैदा करने वाले हैं।

जानी-मानी सामाजिक कार्यकर्ता और यूएन के एड्स मिशन से जुडी रहीं सारिका कटोच का कहना है कि निश्चित ही इस दिशा में ज्यादा करने की ज़रुरत है। ‘यह क़ानून के साथ साथ सामाजिक विषय भी है। पीडि़ता की मानसिक दशा से लेकर उसके भविष्य तक के लिए इस तरह की घटनाएं बड़े परिवर्तन लाती हैं और कई बार तो मामला बहुत संवेदनशील बन जाता है।Ó सारिका कहती हैं कि इस मामले में छोटी उम्र से ही बच्चों को शिक्षित किया जाना ज़रूरी है।

गुडिय़ा गैंगरेप मामले की स्याही अभी सूखी भी नहीं है कि सिरमौर जिले में एक नाबालिग के साथ दुराचार की शर्मनाक घटना सामने आई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपियों ने लड़की को अगवा कर अलग-अलग जगह ले जाकर उसकी अस्मत लूटी। पुलिस के मुताबिक इस मामले में 6 आरोपियों को अब हिरासत में लिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक जिन छह आरोपियों के नाम सामने आये हैं उनमें से एक नाबालिग बताया जा रहा है। आरोप है कि आरोपियों ने सिलसिलेवार वारदात को अंजाम दिया। लड़की को अलग-अलग स्थानों पर ले जाकर आरोपियों ने एक-एक कर हवस मिटाई। नाबालिग किसी तरह आरोपियों के चंगुल से भागी और नाहन के महिला पुलिस थाने पहुंचकर अपने साथ हुई वारदात की जानकारी दी।

लड़की की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने 6 आरोपियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। पुलिस मामले की तफ्तीश में जुट गई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक सिरमौर जिले के गिरिपार इलाके की एक 14 वर्षीय लड़की के साथ आरोपियों ने पिछले चार से पांच दिन तक अलग-अलग जगह दुष्कर्म किया। मिली जानकारी के मुताबिक लड़की अपने घर से 16 अगस्त को संगड़ाह में स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित मेले के लिए निकली थी। संगड़ाह पहुंचने के बाद लड़की को एक आरोपी ददाहू ले आया। रात के समय लड़की को पनार इलाके में युवक ने अपने घर पर रखा। मामला यहीं नहीं थमा।

शिकायत के मुताबिक अगले दिन लड़की को ददाहू छोड़ा गया, जहां से एक आरोपी उसे नाहन ले गया। यहां पर भी एक होटल में दुराचार हुआ। इसके बाद फिर से नाबालिग को ददाहू ले जाया गया। ददाहू के बाद फिर नाहन और अन्य स्थानों पर आरोपियों ने हवस का शिकार बनाया। इस मामले में पुलिस ने प्रदीप, अशोक, दीबू, नरेश और विक्रम को हिरासत में लिया है। एक नाबालिग लड़के पर भी इस वारदात में शामिल होने का आरोप है। नाहन में डीएसपी हेडक्वार्टर बबीता राणा ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है और छह लोगों को हिरासत में लिया गया है।