सुजा के खिलाफ एफआईआर

0
375

लन्दन में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रेस कांफ्रेंस करके ईवीएम के हैकिंग कर सकने का दावा करने और २०१४ के भारतीय चुनाव में कथित धांधली होने का आरोप लगाने वाले अमेरिकी हैकर सैयद सूजा के खिलाफ दिल्ली पुलिस की तरफ से एफआईआर दर्ज की गई है।
सुजा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आग्रह चुनाव आयोग ने किया था। उधर सूजा के इस दावे को भारतीय निर्वाचन आयोग के शीर्ष टेक्निकल एक्सपर्ट रजत मूना ने भी खारिज किया है। रजत आईआईटी भिलाई के डायरेक्टर और चुनाव आयोग की टेक्निकल एक्सपर्ट कमेटी के मेंबर भी हैं।  एनडीटीवी की खबर के मुताबिक उन्होंने बताया की ईवीएम मशीनों से किसी भी तरह की कोई छेड़छाड़ संभव नहीं है। भारत के इस्तेमाल की जाने वाली ये मशीनें टेंपर प्रूफ हैं।

रिपोर्ट् के मुताबिक उन्होंने कहा ”इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनें ऐसी स्टैंड एलोन मशीनें हैं, जिनमें किसी भी प्रकार के वायरलेस संचार के माध्यम से छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। ये मशीनें टेंपर प्रूफ हैं।”

गौरतलब है कि सूजा ने लंदन में एक प्रेस कांफ्रेंस करके ईवीएम हैक करने का दावा किया था। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस ने सूजा ने बताया था कि भारत में इस्तेमाल होने वाली ईवीएम हैक हो सकती है। इतना ही नहीं सूजा ने यह भी दावा किया था कि २०१४ के लोकसभा और २०१५ के दिल्ली विधानसभा चुनाव में उन्होंने ईवीएम हैक की थी। इस हैकिंग के लिए भारत के नेताओं ने उससे संपर्क किया था। सूजा ने दावा किया कि ईवीएम में ट्रांसमीटर के जरिए हैकिंग की जा सकती है और इसी के जरिए हैकिंग की गई थी.

भाजपा ने लंदन में हुई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को कांग्रेस की प्रायोजित बताया था हालांकि कांग्रेस ने इससे साफ़ मना किया था।