रेलवे स्टेशनों पर ना तो तापमान चैक किया जा रहा है, ना ही सेनेटाईज किया जा रहा है

निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन में कार्यरत एक पुलिस अधिकारी ने तहलका संवाददाता को बताया कि सरकार तो बहुत कुछ सामान देती है। ताकि संक्रमण को रोका जा सकें। यात्रियों को कोई परेशानी ना हो। लेकिन रेलवे विभाग के बड़े अधिकारी ही कुछ ना करें, तो कोई क्या करें। जबकि मौजूदा वक्त में रेलवे स्टेशनों को सेनेटाईज करने की सख्त जरूरत है।यात्रियों के तापमान देखने की जरूरत है। लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। जो गंभीर चिंता का विषय है। पुलिस अधिकारी का कहना है कि जो भी सामान आया है या नहीं आया है। उसकी जांच हो तो बड़ा घोटाला सामने आयेगा।क्योंकि बड़ी मात्रा में तापमान चैक करने वाली मशीने और सेनेटाईज आये है। वे कहां गायब हो गये है, ये सब जांच के दायरे में आते है।