भाजपा की पूर्ण बहुमत की फिर बनेगी सरकार : मोदी

शाह के साथ 'साझी' प्रेस कांफ्रेंस की, पर नहीं लिया एक भी सवाल

0
465
पांच साल से देश का प्रधानमंत्री रहने के दौरान नरेंद्र मोदी ने भले एक भी प्रेस कांफ्रेंस न की हो, शुक्रवार को मोदी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ एक साझी प्रेस कांफ्रेंस की। हालांकि, इस प्रेस कांफ्रेंस में भी ओपनिंग रिमार्क्स देकर मोदी ने पत्रकारों का एक भी सवाल नहीं लिया और सारे जवाब शाह ने ही दिए जिससे पत्रकारों को भी निराशा हाथ लगी। मोदी ने अपने रिमार्क्स में भरोसा जताया कि ”दोबारा भाजपा (एनडीए) की सरकार बनेगी”। कुछ ऐसा ही दावा शाह ने भी किया।
शाह ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पीएम की चुनाव सभाओं की जानकारी दी साथ ही दावा किया कि भाजपा ३०० सीटें जीतेगी और इसमें राय नहीं कि एनडीए की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनेगी। इस प्रेस कांफ्रेंस की ख़ास बात यही रही कि पीएम मोदी ने इस प्रेस कांफ्रेंस में एक भी सवाल नहीं लिया। सारे सवालों के जवाब शाह ने ही दिये।
इससे पहके अपने ओपनिंग रिमार्क में कहा – ”यह सकारात्मक भाव से लड़ा गया शानदार चुनाव रहा। हमें विश्वास है कि हम पूर्ण बहुमत के साथ वापसी करेंगे। मेरा मत है कि पूर्ण बहुमत वाली सरकार पांच साल पूरे करके वापस आए, यह देश में लंबे अरसे के बाद हो रहा है।”
मोदी ने कहा – भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। इसकी सबसे बड़ी ताकत क्या है? यह किसी राजनीतिक पार्टी का काम नहीं है। मेरा मानना है कि हमें देश को दुनिया के सामने ले जाना चाहिए। साल २००९ और २०१४ के चुनाव ऐसे रहे कि  आईपीएल मैच को भी बाहर ले जाना पड़ा। सरकार सक्षम हो तो आईपीएल भी हो, रमजान भी हो, बच्चों के एग्जाम भी होते हैं, नवरात्र भी होते हैं।”
पीएम ने २०१४ के लोकसभा चुनाव के वक्त सट्टा बाज़ार का जिक्र अपने रिमार्क्स में किया – १६ मई को पिछली बार (२०१४) चुनाव नतीजे आए थे और १७ मई को बहुत बड़ी कैजुअल्टी हुई थी। सट्टा खोरों को उस दिन अरबों रुपयों का नुकसान हुआ था। पहले जो सट्टा बाजार चलता था वो कांग्रेस की १५० सीटों के लिए और भाजपा के लिए  ११८  और १२० सीटों के लिए चलता था। शायद ईमानदारी की शुरुआत १७ मई (२०१४ ) को हुई थी।”
उधर भाजपा अध्यक्ष ने पीएम मोदी की भरपूर तारीफ की।  कहा – , ‘‘आज एक बहुत लंबे, परिश्रमी, सफल और विजयी चुनाव अभियान के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। आजादी के बाद जितने भी चुनाव अभियान हुए, यह सबसे बड़ा चुनावी अभियान रहा है। जनता हमसे आगे रही है। मोदी सरकार को फिर से लाने के लिए जनता का परिश्रम सबसे आगे रहा है।’’
शाह ने कहा, – ”हमारी सरकार को पांच साल समाप्त होने को आए हैं। इन पांच सालों   में नरेन्द्र मोदी प्रयोग को जनता ने स्वीकारा है। मैं विश्वास से कह रहा हूं कि विगत चुनाव से भी ज्यादा बहुमत से नरेन्द्र मोदी सरकार फिर से बनने जा रही है।”
दिलचस्प  यह रहा कि जब मोदी-शाह प्रेस कांफ्रेंस में थे, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे। अपनी इस प्रेस कांफ्रेंस में राहुल गांधी ने पीएम मोदी को संबोधित करते हुए उनसे सवाल पूछा – ”पिछले पांच साल में वो (पीएम मोदी) ने प्रेस कांफ्रेंस नहीं की। मैंने उन्हें डिबेट के लिए चैलेंज किया वो नहीं आये। मुझे बताया गया कि इस समय वे प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं। मैं इसमें ही उनसे लाइव सवाल पूछ रहा हूं, आपने राफेल के मुद्दे पर मुझसे खुली बहस क्यों नहीं की?”