बागी 24 घंटे में वापस लौटें, हम एमवीए से बाहर आने पर विचार करेंगे: राउत

राउत का यह बयान सिर्फ अपने विधायकों को वापस लाने के लिए है या सच में शिव सेना एनसीपी-कांग्रेस से अलग होने का फैसला कर सकती है, यह अभी कहना बहुत मुश्किल है। राउत ने कहा – ‘इन लोगों (शिंदे और उनके साथ गए विधायक) की मुंबई आने की हिम्मत नहीं है। यहां पर आकर उन्हें जो कुछ कहना है, वो कहना चाहिए। यहां आकर पत्र व्यवहार करना चाहिए, लेकिन ये सभी लोग गुवाहाटी में बैठकर बातें बना रहे हैं। हिम्मत है तो मुंबई वापस आइए।’

शिव सेना नेता ने बागियों से कहा कि वे उद्धव ठाकरे के सामने अपनी बात रखें। ‘मुझे पूरा भरोसा है कि आपकी बात सुनी जाएगी। आप 24 घंटों के अंदर वापस आइए, एमवीए से बाहर निकलने पर विचार करेंगे।’ राउत ने दावा किया कि ‘शिंदे के साथ गए 21 विधायक हमारे संपर्क में हैं। हमारे विधायकों का अपहरण किया गया है।’

सूरत से वापस आये प्रेस कांफ्रेंस में उपस्थित शिवसेना विधायक नितिन देशमुख ने कहा – ‘सूरत में हमें जबरदस्त पुलिस सुरक्षा में रखा गया था। मुझे जबरन सूरत ले जाया गया।’ दूसरे विधायक कैलाश पाटिल ने कहा – ‘मुझे सूरत में कैद करके रखा गया। एक किलोमीटर भागकर चंगुल से निकला। हमारे कई विधायक मजबूरी के चलते मुंबई नहीं लौट पा रहे हैं।’