टोंटी के बाद लाल टोपी पर तंज

उत्तर प्रदेश की सियासत के जानकार संजीव कुमार का कहना है कि चुनाव में तो मुख्य रूप से चार प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा, सपा, बसपा और कांग्रेस चुनावी मैदान में है। लेकिन जिस प्रकार चुनावी माहौल बन रहा है उससे तो लगता है कि चुनाव आते-आते सपा और भाजपा के बीच ही कड़ा मुकाबला हो सकता है। क्योंकि प्रदेश की राजनीति में धार्मिक और जातीय समीकरणों के सहारे चुनाव लड़ा जाता रहा है। सो इस बार भी ऐसा होगा।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भाजपा को हराने के लिये छोटे-छोटे दलों के साथ गठबंधन कर रहे है। वहीं भाजपा भी अपने विकास के मुद्दे पर जनता के बीच जाने को तैयार है। संजीव कुमार का कहना है कि अखिलेश यादव पर पहले नल की टोंटी को लेकर तंज कसा जा चुका है अब लाल टोपी को लेकर भी तंज कसा जा रहा है। ऐसे बातों और तंजों से जनता को रस मिलता है। जो चुनाव में एक माहौल बनाता है।