जेट एयरवेज प्लेन में यात्रियों की जान पर बनी

मुंबई में एमरजेंसी लैंडिंग, एयर प्रेशर मेंटेन स्विच आन नहीं किया

0
992

जेट एयरवेज की मुंबई से जयपुर जा रही फ्लाइट को गुरूवार को उस समय मुंबई वापस उतरना पड़ा जब प्लेन के अंदर यात्रियों के नाक और कान से खून बहने लगा। कहा गया है कि एयर प्रेशर की कमी के चलते यह समस्या यात्रियों को झेलनी पड़ी। रिपोर्ट्स के मुताबिक एयरवेज के क्रू मेंबर एयर प्रेशर मेंटेन करने वाले स्विच को आन करना भूल गए थे जिससे यात्रियों को गंभीर परिस्थिति से गुजरना पड़ा। प्लेन के भीतर यह अपने तरह की पहली घटना बताई गयी है।

जेट एयरवेज ने इस फ्लाइट के अपने क्रू मेंबर पर मामले की जांच पूरी होने तक कार्य की रोक लगा दी है। कमसे काम ३० यात्रियों को स्यास्थ्य सम्बन्धी समस्या आई है जिन्हे मुंबई के अस्पताल में इलाज के भर्ती किया गया है। इनमें ५ यात्री शामिल हैं। इस घटना की जांच का आदेश सरकारी अथॉरिटी ने दिया है।

क्रू मेंबर की इस भूल के चलते बीच उड़ान में ऊंचाई पर एमरजेंसी ऑक्सीजन मास्क खोलने के लिए कहना पड़ा। उस समय ३० के करीब यात्रियों के सर में तेज दर्द हो रहा था जबकि कुछ के नाक और कान से खून बहना शुरू हो गया था। टीवी रिपोर्ट्स में एक यात्री को यह कहते हुए दिखाया गया है कि प्लेन में एसी की काम नहीं कर रहे थे।

यह बात सामने आई है कि प्लेन में १६६ के करीब यात्री थे और क्रू मेंबर केबिन प्रेशर मेंटेन करने वाले स्विच को दबाना ही भूल गए थे। जिसके चलते विमान के ऊंचाई पर पहुंचने से लोग हवा की कमी महसूस करने लगे। देखते ही देखते कुछ लोगों के नाक और कान से ब्लीडिंग होने लगी, जबकि तमाम लोग ऐसे थे, जिन्हें सिर दर्द होने लगा।

जेट एयरवेज के प्रवक्ता ने इस घटना पर खेद जताते हुए कहा कि ”मुंबई से जयपुर जा रही फ्लाइट को  गुरूवार को वापस बुलाना पड़ा क्योंकि केबिन प्रेशर कम हो गया था। १६६ यात्रियों और ५ क्रू मेंबर्स समेत विमान को मुंबई में सामान्य तरीके से उतारा गया। सभी यात्री सुरक्षित हैं। जिन यात्रियों ने नाक और कान से ब्लीडिंग की शिकायत की थी, उन्हें फर्स्ट ऐड मुहैया कराया गया है”।