चारा घोटाले में लालू और जगन्नाथ मिश्र को हुई पांच वर्ष की क़ैद

0
83

राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र को सीबीआई की विशेष अदालत ने चाईबासा कोषागार से जुड़े मामले में पांच-पांच वर्ष की सश्रम कारावास की सजा सुनायी है ।

दोनों पर दस लाख और पांच लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। देवघर कोषागार से जुड़े़ एक मामले में सजा होने के बाद से लालू प्रसाद यहां बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं।

एजेंसियों की रिपोर्ट के मुताबिक़ विशेष न्यायाधीश स्वर्ण शंकर प्रसाद ने 950 करोड़ रुपये के चारा घोटाले से जुड़े़ चाईबासा कोषागार से 35 करोड़ 62 लाख रुपये फर्जी ढंग से निकालने के जुर्म में राजद सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री समेत 50 अभियुक्क्तों को दोषी ठहराया। अदालत ने छह लोगों को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया।

अदालत ने लालू यादव और जगन्नाथ मिश्र को पांच-पांच वर्ष, ध्रुव भगत को तीन वर्ष की कैद और जुर्माने की सजा दी। अदालत ने विद्यासागर निषाद को तीन वर्ष और जगदीश शर्मा को पांच साल कैद की सजा सुनायी। अदालत ने तीन पूर्व आईएएस फूलचंद सिंह, महेश प्रसाद एवं सजल चक्रवर्ती को चार-चार वर्ष की कैद और दो लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनायी। जुर्माना नहीं देने पर उन्हें तीन माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।